इंदौर में सड़क के गड्ढे ने ली छात्रा की जान, एक की हालत गंभीर

इंदौर के रिंग रोड पर जलजमाव होने के कारण स्कूटर का अगला पहिया गड्ढे में गिर गया, सरिता नामक छात्रा की चोट लगने से मौत हो गई, उसकी मित्र सुजाता की हालत गंभीर है, जबकि मृतक छात्रा का भाई अभी सुरक्षित है

Publish: Sep 26, 2021, 11:04 AM IST

इंदौर में सड़क के गड्ढे ने ली छात्रा की जान, एक की हालत गंभीर

इंदौर। इंदौर में प्रशासनिक कुव्यवस्था एक छात्रा की मौत का कारण बन गई। शनिवार को स्कूटर के गड्ढे में गिरने से गुजराती कॉलेज में पढ़ने वाली छात्रा की मौत हो गई। जबकि उसकी दोस्त सुजाता की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है। वहीं मृतक सरिता का भाई सुरक्षित है।

यह दुर्घटना शनिवार शाम को रिंग रोड पर हुई। साइंस कॉलेज का छात्र राहुल अपनी बहन सरिता और उसकी सहेली को अपने किराए के घर लेकर जा रहा था। इसी दौरान रिंग रोड पर जल जमाव होने के कारण उसका स्कूटर गड्ढे की चपेट में आ गया। 

सड़क पर पानी काफी भरा हुआ था इसलिए राहुल गड्ढे का अंदाजा नहीं लगा पाया और स्कूटर का पहला पहिया गड्ढे में जा गिरा। जिस वजह से स्कूटर पर उसके साथ सवार सरिता और सुजाता गिर गईं। सरिता को सिर में गंभीर रूप से चोट लग गई। वहीं सुजाता भी घायल हो गई। अस्पताल पहुंचते ही सरिता ने दम तोड़ दिया। 

राहुल ने हिंदी के एक अखबार को बताया है कि दुर्घटनास्थल पर करीब पंद्रह मिनट तक वह लोगों से मदद की गुहार लगाता रहा, लेकिन कोई भी व्यक्ति उसकी मदद करने नहीं आया। बहुत गुहार लगाने के बाद आखिरकार एक रिक्शे वाले ने रिक्शा रोकी, जिसके बाद वह अपनी बहन और उसकी दोस्त को लेकर भंवरकुआं के पास स्थित अस्पताल में लेकर गया। लेकिन अस्पताल पहुंचने के पांच मिनट बाद ही उसकी बहन को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। जबकि उसकी सहेली सुजाता की हालत अभी नाज़ुक है।

राहुल ने बताया कि मूसाखेड़ी में उसकी बहन सुजाता अपनी दोस्त सरिता के साथ रहती थी। शाम को उनके मकान में पानी खत्म हो गया था। इसलिए वह अपनी बहन और उसकी दोस्त को लेकर खंडवा नाके स्थित अपने मकान लेकर जा रहा था। इसी दौरान यह दुर्घटना घटित हो गई।

इंदौर में सड़कों की बदहाल अवस्था और जगह जगह जलजमाव हो जाने को लेकर लगातार इंदौर प्रशासन पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं। खुद बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय जलमाव की समस्या को उठा चुके हैं और जिम्मेदार ठेकेदार, इंजीनियर और अधकारियों पर कार्रवाई की मांग कर चुके हैं।

 कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कैलाश विजयवर्गीय के कथन का जवाब देते हुए कहा है कि इस समय राज्य से लेकर दिल्ली तक आपकी पार्टी की ही सरकार है। यह सारे काम आपकी पार्टी की ही सरकार और आपकी ही नगर निगम परिषद ने किए हैं। सलूजा ने कहा है कि सबसे पहले कार्रवाई तो उन्हीं पर होनी चाहिए।