कोरोना काल में लापता भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर कांग्रेस ने रखा 10 हजार का इनाम

कोरोना काल में सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर जनता के बीच नहीं पहुंच रहीं हैं, यह दूसरी बार है जब महामारी के दौरान सांसद को गुमशुदा घोषित किया है, कांग्रेस नेता रवि सक्सेना ने उनका पता बताने वाले पर 10 हजार का इनाम रखा है

Updated: Apr 27, 2021, 08:31 PM IST

कोरोना काल में लापता भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर कांग्रेस ने रखा 10 हजार का इनाम
Photo courtesy: The Siasat Daily

भोपाल। कोरोना महामारी के बीच जहां जनप्रतिनिधि जनता के बीच जा रहे हैं, उनके इलाज और सुविधाओं का जायजा ले रहे हैं। वहीं भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी की सांसद प्रज्ञा ठाकुर पिछले एक साल से जनता के बीच नजर नहीं आई हैं। जिसके बाद कांग्रेस ने बीजेपी सांसद पर निशाना साधा है। कांग्रेस प्रवक्ता रवि सक्सेना ने साध्वी प्रज्ञा को खोजकर लाने वाले को 10 हजार रुपए इनाम देने का ऐलान किया है।

कांग्रेस नेता का आरोप है कि भोपाल की जनता कोरोना महामारी के दौर में दवा, अस्पतालों में पलंग, इंजेक्शन, वेंटिलेटर की कमी से जूझ रही है। इलाज नहीं मिलने की वजह से लोग दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं, वक्त पर इलाज नहीं मिलने से हजारों लोगों की मौत हो गई है। ऐसी संकट के समय में सांसद का लापता होना जांच का विषय है।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान पिछले साल भी भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर शहर की जनता को असहाय छोड़कर गुम हो गईं थीं। तब भी बीजेपी सांसद को खोजने वाले को पांच हजार रुपए का इनाम देने का ऐलान किया गया था। मीडिया में खबरें आने के बाद सांसद की और से उनके बीमार होने की सूचना दी गई थी।

मध्यप्रदेश कांग्रेस के महासचिव और वरिष्ठ प्रवक्ता रवि सक्सेना का कहना है कि कोरोना संकट के समय भोपाल सांसद का लापता होना भोपाल की जनता के साथ धोखा है। कांग्रेस ने सांसद के अज्ञातवास में रहने पर उन्हें आड़े हाथों लिया है।    

बीते 24 घंटे में मध्य प्रदेश में 13,417 मरीज मिले हैं। भोपाल में कोरोना के मामले दिनों दिन बढ़ता जा रहे हैं, भोपाल में कोरोना एक्टिव मरीजों की संख्या 13,587 हैं, अब भोपाल इंदौर से आगे निकलता नजर आ रहा है। इंदौर में एक्टिव मरीजों की संख्या 13,354 है। राजधानी भोपाल में करीब 5 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 5 लाख 25 हजार से ज्यादा है।