आदिवासी महिला विधायक कलावती का बीजेपी नेताओं पर आरोप, नाक, हाथ काटने की दे रहे धमकियाँ

मध्य प्रदेश में सत्तारूढ़ बीजेपी के नेताओं पर आदिवासी महिला विधायक को धमकियाँ देने का आरोप, किसी ने नाक काटने की, किसी ने मंच से निपटाने की तो किसी ने हाथ काटने की दी धमकी

Updated: Feb 14, 2021, 06:11 PM IST

आदिवासी महिला विधायक कलावती का बीजेपी नेताओं पर आरोप, नाक, हाथ काटने की दे रहे धमकियाँ

झाबुआ। मध्य प्रदेश की सत्तारूढ़ बीजेपी के नेताओं पर विपक्ष की आदिवासी महिला विधायक को हिंसक धमकियां देने का आरोप लगा है। आरोप है कि बीजेपी के कई नेता मर्यादा की सारी सीमाओं को लांघते हुए जोबट की आदिवासी महिला विधायक कलावती भूरिया पर ओछी टिप्पणियां कर रहे हैं और उन्हें धमकियां दे रहे हैं। हैरान करने वाली बात यह है कि मंच से खुलेआम नाक काटने, हाथ काटने जैसी धमकियां देने वाले नेताओं पर कार्रवाई करना तो दूर, महिला विधायक को अपने क्षेत्र में जाने के लिए प्रशासन ने अबतक अतिरिक्त सुरक्षा तक मुहैया नहीं कराई है।

सत्तारूढ़ पार्टी नेताओं द्वारा जान से मारने की धमकी मिलने पर जोबट विधायक कलावती भूरिया शनिवार को झाबुआ चलीं गई। लेकिन, क्षेत्र छोड़ने को मजबूर करने के बावजूद बीजेपी नेताओं की धमकियां लगातार जारी है। इसी क्रम में आज बड़वानी के बीजेपी जिलाध्यक्ष ओम सोनी ने कलावती की नाक काटने की धमकी दी है। इतना ही नहीं सोनी ने महिला नेता को शूर्पणखा कहा है। सोनी ने कहा, 'प्रदेश से लेकर दिल्ली तक भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। हम जो चाहेंगे वो होगा। मुगालते में न रहें, कलावती की नाक काटकर ले जाएंगे।'

कांग्रेस ने बीजेपी नेताओं की इन धमकियों पर सख्त एतराज़ किया है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से पूछा है कि बीजेपी राजनीतिक पार्टी है या गिरोह? वहीं कांग्रेस के दिग्गज नेता विवेक तन्खा ने कलावती भूरिया को पूर्ण सुरक्षा देने की मांग की है। उन्होंने ट्वीट किया, ' भाजपा के यह संस्कार हैं ? कांग्रेस की एक आदिवासी महिला विधायक कलावती भूरिया को असभ्य भाषा में धमकी दी । कलावती भूरिया को पूर्ण सुरक्षा दी जाये ओर ऐसे नेताओं पर लगाम लगाए। शिवराज सिंह चौहान से उम्मीद है तुरंत कार्यवाही की। नहीं तो बात बढ़ जाएगी। प्रदेश में गुंडागर्दी की कोई जगह नहीं।' 

इसके पहले अलीराजपुर के बीजेपी नेता व पूर्व विधायक नागर सिंह चौहान पर कलावती भूरिया को मंच से निपटाने की धमकी देने का आरोप लगा था। आरोप है कि नागर ने सार्वजनिक रूप से कहा था, 'कलावती ये झाबुआ जिला नहीं है अलीराजपुर है। इस जिले का इतिहास आप सबको पता होगा। हम छोड़ने वाले नहीं हैं, अगर गलत करेगी तो मंच पर निपटा देंगे। जहां आमना सामना होगा वहां निपटाएंगे।'

यह भी पढ़ें: जबलपुर के 600 से ज़्यादा स्कूलों में बिजली नहीं, अंधेरे में पढ़ाई करने पर बच्चे मजबूर

नागर के इस बयान के समर्थन में अलीराजपुर के पूर्व बीजेपी जिलाध्यक्ष किशोर शाह ने एक रैली के दौरान महिला विधायक का नाम लिए बिना हाथ काटने की धमकी दे डाली। किशोर ने कहा, 'नागर सिंह चौहान आंधी है, तूफान है और भारतीय जनता पार्टी की शान है। उन्हें अकेला मत समझना। अगर किसी ने भी उनके ऊपर उंगली उठाने की कोशिश की, तो उंगली ही नहीं, उनका हाथ भी सलामत नहीं बचेगा।

खुद कलावती भूरिया का कहना है कि उन्हें लगातार जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं। बीजेपी के लोग सरेआम हथियार लेकर घूम रहे हैं। नागर सिंह और उसके पिता हिस्ट्रीशीटर हैं। वह हमारे साथ कुछ भी कर सकते हैं। मैने अलीराजपुर के कलेक्टर, एसपी सहित सीएम, डीजीपी और आईजी को पत्र लिखकर वस्तुस्थिति बताई है। लेकिन उन पर कार्रवाई तो दूर हमें सुरक्षा तक मुहैया नहीं कराई जा रही है।