जनपद पंचायत चुनाव में कांग्रेस का शानदार प्रदर्शन, 167 सीटों पर कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों ने जमाया कब्जा

प्रदेश की 313 सीटों में से कांग्रेस पार्टी ने 167 सीटों पर शानदार जीत दर्ज की है, पहले चरण में 89 और दूसरे चरण में जीती 78 सीटों पर विपक्षी दल ने कब्जा जमाया है, पीसीसी चीफ कमलनाथ ने इस ऐतिहासिक जीत पर प्रदेश वासियों का अभिनंदन किया है

Updated: Jul 28, 2022, 07:59 PM IST

जनपद पंचायत चुनाव में कांग्रेस का शानदार प्रदर्शन, 167 सीटों पर कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों ने जमाया कब्जा

भोपाल। मध्यप्रदेश में जनपद पंचायतों के चुनाव में विपक्षी दल कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन किया है। कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने बताया कि प्रदेश के 313 में से 167 सीटों पर कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों ने बाजी मारी है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने पार्टी इस ऐतिहासिक प्रदर्शन पर खुशी जाहिर करते हुए प्रदेश के लोगों का अभिनंदन किया है।

पीसीसी चीफ कमलनाथ ने ट्वीट किया, 'जनपद पंचायत के चुनाव में कांग्रेस पार्टी को दिए गए अभूतपूर्व समर्थन के लिए मैं मध्यप्रदेश की सम्मानित जनता का हार्दिक अभिनंदन करता हूं। पुलिस, पैसा और प्रशासन के दबाव के बीच आपने जिस तरह निर्भीक होकर वोट डाला और लोकतंत्र को मजबूत किया, वह सदा अनुकरणीय रहेगा। मैं कांग्रेस पार्टी के सभी विजेता प्रत्याशियों को अपनी शुभकामनाएं प्रेषित करता हूं। जय मध्य प्रदेश। जय मध्य प्रदेश की जनता।'

इससे पहले कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने बताया कि, 'कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों ने पहले चरण में 89 और दूसरे चरण में 78 सीटों पर विजयश्री हासिल की है। देवास, सिंगरौली उज्जैन और हरदा जिलों की सभी जनपद पंचायतों पर कांग्रेस पार्टी का परचम लहरा रहा है। विंध्य क्षेत्र में रीवा, सिंगरौली, सीधी, शहडोल जिले में कांग्रेस पार्टी ने ऐतिहासिक प्रदर्शन किया है। निमाड़ क्षेत्र के खंडवा और खरगोन जिलों में भी कांग्रेस पार्टी ने शानदार प्रदर्शन किया है।'

केके मिश्रा ने बयान जारी कर कहा कि, 'कांग्रेस पार्टी पहले ही गोंडवाना, विंध्य और ग्वालियर चंबल के इलाके में नगर निगम के चुनाव में शानदार प्रदर्शन कर चुकी है। जिला पंचायत सदस्य के मामले में भोपाल और जबलपुर जैसे प्रमुख जिलों में कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन शानदार रहा है। और अब जनपद पंचायतों में हमें भगवान महाकाल का आशीर्वाद उज्जैन में प्राप्त हुआ है। बीजेपी कल अपनी पहली लिस्ट में ही झूठ बोलकर जनता की निगाहों में भरोसा खो चुकी है। बीजेपी के नेता सिर्फ हल्ला मचा कर और तस्वीरें खिंचा कर जनता को भ्रमित करना चाहते हैं। उनकी लिस्ट में कल भी कांग्रेस के समर्थन से जीते प्रत्याशियों को भाजपा का प्रत्याशी बता दिया गया। भाजपा ने आज जो लिस्ट जारी की है उसमें भी इसी तरह की तिकड़म और फर्जीवाड़े से काम लिया गया है।'

यह भी पढ़ें: भेड़ियों की तरह भाजपा सांसदों ने सोनिया गांधी को घेर रखा था: महुआ मोइत्रा ने सुनाया पूरा वाक़या

उन्होंने आगे कहा कि, 'उमरिया में कांग्रेस के सदस्यों को वोट नहीं डालने दिया गया और जबरन भाजपा को विजेता घोषित किया गया। रैगांव में कल कांग्रेस पार्टी समर्थित प्रत्याशी को विजेता होने का सर्टिफिकेट दे दिया गया था लेकिन बाद में कलेक्टर ने दोबारा चुनाव कराने का आदेश दिया और भाजपा को चुनाव जीता दिया। यह सत्ता और प्रशासन के खुले दुरुपयोग का स्पष्ट नमूना है। सोशल मीडिया में इस तरह के वीडियो और ऑडियो वायरल हो रहे हैं जिनमें भाजपा के नेता सदस्यों को खुली धमकी देते हुए सुने जा सकते हैं। जनपद पंचायत के शानदार प्रदर्शन के बाद कांग्रेस पार्टी की निगाह जिला पंचायत में शानदार जीत दर्ज करने की ओर है।'