Corona Returns: इंदौर में कोरोना की तीसरी लहर, शहर के अस्पतालों में 90 फीसदी बेड फुल

Indore: पिछले एक महीने में कोरोना मरीजों की संख्या में आई थी गिरावट, त्यौहारों में लापरवाही के कारण अचानक बढ़ने लगे केस

Updated: Nov 20, 2020, 12:14 PM IST

Corona Returns: इंदौर में कोरोना की तीसरी लहर, शहर के अस्पतालों में 90 फीसदी बेड फुल
Photo Courtesy: Bhaskar

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में पिछले एक महीने तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में गिरावट के बाद एक बार फिर संक्रमण बेकाबू हो गया है। माना जा रहा है कि शहर में कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने खुद तीसरी लहर की बात को स्वीकारा है। चिंता की बात यह है कि शहर के अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध 90 फीसदी बेड फुल हो चुके हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इंदौर में इलाज के लिए अन्य जिलों के मरीज भी आ रहे हैं जिससे कई अस्पतालों में बेड भर गए हैं। शासकीय और निजी अस्पतालों को मिलाकर 1900 बेड भरने के बाद अब प्रशासन ने मरीजों को सुपर स्पेशिएलिटी सहित अन्य सरकारी अस्पतालों में भेजने का निर्णय लिया है। कल यानी गुरुवार को शहर में 313 नए कोरोना मरीज मिले वहीं चार लोगों की मौत भी हुई।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का मानना है कि अचानक पॉजिटिव केस बढ़े हैं, लेकिन पॉजिटिव केस की तुलना में सैंपल की जांच भी बढ़ी है। वर्तमान में प्रतिदिन जांचे जा रहे सैम्पलों की तुलना में पॉजिटिव केस की संख्या सिर्फ 6.7 प्रतिशत आ रही है। हालांकि, पिछले चार दिनों में शहर में कोरोना केस की संख्या चार गुना बढ़ी है। आने वाले दिनों में अगर यही रफ्तार रही तो नवंबर के अंतिम सप्ताह तक मरीजों की संख्या हर दिन 300 से ज़्यादा रहने की आशंका है। जानकारों का मानना है कि दिसंबर में यह संख्या और भी बढ़ सकती है और हर दिन 400 तक केस सामने आ सकते हैं।