जबलपुर में नकली शहद फैक्ट्री का खुलासा, कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए लोगों की जान से खिलवाड़

पुलिस ने आरोपी के ठिकाने से 31 किलो नकली शहद, करीब 7 हजार से ज्यादा पैकिंग में उपयोगी खाली शीशियां, लेबल किया जब्त, 5-5 हजार रुपए में रखे मजदूरों से करवाता था पैकिंग

Publish: Aug 12, 2021, 01:47 PM IST

जबलपुर में नकली शहद फैक्ट्री का खुलासा, कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए लोगों की जान से खिलवाड़
Photo Courtesy: Bhaskar

जबलपुर। संस्कारधानी में लोगों की सेहत से खिलवाड़ का एक और मामला सामने आया है। जबलपुर की माढ़ोताल पुलिस ने जिले में नकली शहद बनाने और बेचने वाले व्यापारी को गिरफ्तार किया है। आरोपी का नाम मुकेश गोयल है। उसके ठिकाने से पुलिस ने 31 किलो नकली शहद और बड़ी मात्रा में पैकिंग का सामान जब्त किया है। आरोपी ने अपने घर पर एक भगोने में सारा सामान तैयार कर रखा था।

मुक्ता मधु नाम से बिकने वाली नकली शहद बनाने के लिए शक्कर का शीरा, हानिकारक रंग, एसेंस, फिटकरी, अरारोट का उपयोग होता था। जिसे छोटी-छोटी शीशियों में भर कर पैक किया जाता था। 20 और 35 ग्राम की छोटी-छोटी बॉटलों में शहद पैक की जाती थी, जिस पर महज 2-3 रुपए का खर्च आता था। इन शीशियों को 10 और 15 रुपए में बेचा जाता था। कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमाने का काम आऱोपी का पिता भी करता था। पिता की मौत के बाद उसका बेटा मुकेश भी नकली शहद बेचने का काम करने लगा। इस नकली शहद पर 50 फीसदी से ज्यादा का फायदा मिलने की वजह से इसे व्यापारी अपनी दुकानों में रखते थे। यह नकली शहद पूजा सामग्री की दुकानों में ज्यादा बिकती थी। सस्ती खरीद में ज्यादा कमाई के लालच में दुकानदार इसे हाथों-हाथ अपने यहां बेचने के लिए ले लेते थे।

 दरअसल मुकेश ने 4 महिलाओं को पैंकिंग के काम पर लगा रखा था, वे दिनभर शीशियों में शहद भरने और लेबल लगाने का काम करती थीं। उन्हें इस काम के बदले 5 हजार रुपए दिए जाते थे। आरोपी के ठिकाने से पुलिस ने बड़ी मात्रा में नकली शहद की बॉटल्स जब्त की हैं। 20-20 ग्राम की 1033 बॉटल्स जबकि 35-35 ग्राम की 1246 बॉटल्स मिली हैं। वहीं 31 किलो नकली शहद भी जब्त की गई है।

मामले का खुलासा होने के बाद पुलिस ने इस मामले की सूचना खाद्य सुरक्षा अधिकारी को भी दे दी। मुकेश गोयल के खिलाफ खाद्य सुरक्षा अधिनियम सहित कई धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। सैंपल्स को जांच के लिए भेजा गया है।

जबलपुर में नकली सामान बनाने और बेचने का धंधा फलफूल रहा है। कुछ दिनों पहले पुलिस ने नकली शैंपू, कंडिश्नर, साबुन, खाद, घी बनाने की फैक्ट्रियों का खुलासा किया था।