शिवराज के सायरन अभियान पर जयवर्धन का पलटवार, पूर्व मंत्री ने कहा, पब्लिसिटी स्टंट के बजाय कोरोना वॉरियर्स को रोज़गार दे सरकार

कोरोना महामारी के प्रति एक तरफ राज्य सरकार ने आज सुबह 11 बजे और शाम को पांच बजे सायरन अभियान का आह्वान किया है, पांच मिनट तक सायरन बजने के दौरान लोगों कोरोना के प्रति जागरूक रहने का संकल्प लेना है

Publish: Mar 23, 2021, 10:44 AM IST

शिवराज के सायरन अभियान पर जयवर्धन का पलटवार, पूर्व मंत्री ने कहा, पब्लिसिटी स्टंट के बजाय कोरोना वॉरियर्स को रोज़गार दे सरकार
Photo Courtesy: Twitter

भोपाल। शिवराज सरकार सायरन अभियान पर पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने हमला बोला है। कांग्रेस नेता ने शिवराज सरकार के इस अभियान को महज़ एक पब्लिसिटी स्टंट करार दिया है। पूर्व मंत्री ने कहा है कि शिवराज सरकार को सायर अभियान के जरिए पब्लिसिटी स्टंट करने के बजाय कोरोना वॉरियर्स को रोजगार देना चाहिए। 

यह भी पढ़ेंकिसान कांग्रेस का कर्तव्यों का एहसास अभियान, सायरन बजने के समय गाड़ियों की हेड लाइट चालू करने का आह्वान

जयवर्धन सिंह ने कहा, 'ताली, थाली, के बाद नई खोज,सायरन! पर जिन कोरोना वारियर्स ने अपनी जान हथेली पर रखकर कोरोना काल मे सेवा की थी उन्हें तनख्वाह तक नसीब नहीं हुई और ऊपर से उन पर लाठियां भांजी गई थी। पब्लिसिटी स्टंट से बेहतर है उन लोगो को नौकरी दीजिये जिन्होंने अपनी जान पर खेल कर जनसेवा की है। 

दरअसल कोरोना के दौरान राज्य सरकार ने 6 हज़ार से ज़्यादा कोरोना वॉरियर्स को कॉन्ट्रेक्ट पर रखा था। लेकिन अचानक ही राज्य सरकार ने कोरोना वॉरियर्स की छुट्टी कर दी। राज्य सरकार से नौकरी की मांग को लेकर कोरोना वॉरियर्स ने भोपाल में प्रदर्शन भी किया। लेकिन उनके ऊपर पुलिस प्रशासन ने लाठीचार्ज कर दिया। 

यह भी पढ़ेंभोपाल में कोरोना वॉरियर्स पर बरसी लाठियां, ये वही हैं जिन पर कभी फूल बरसाए थे

शिवराज सरकार के इसी दोहरे मापदंड को कांग्रेस नेता जयवर्धन सिंह ने पब्लिसिटी स्टंट करार दिया है। दूसरी तरफ कांग्रेस किसान कांग्रेस ने भी शिवराज सरकार के सायरन अभियान के समय लोगों को अपनी गाड़ियों की हेडलाइट जलाने के लिए कहा है। किसान कांग्रेस ने इसे कर्तव्यों का एहसास अभियान नाम दिया है। किसान कांग्रेस के इस अभियान का उद्देश्य राज्य सरकार को उसके कर्तव्यों का एहसास दिलाना है।