भोपाल की खराब सड़कों से जना एक नायाब खेल, गड्ढे गिनो प्रतियोगिता का आयोजन, विजेताओं को मिला पुरस्कार

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सड़कों की स्थिति दयनीय, गड्ढों से पटा है झीलों का शहर, कांग्रेस ने किया गड्ढा गिनो प्रतियोगिता का आयोजन, महिलाओं ने गिने गड्ढे

Updated: Sep 13, 2021, 06:58 PM IST

भोपाल की खराब सड़कों से जना एक नायाब खेल, गड्ढे गिनो प्रतियोगिता का आयोजन, विजेताओं को मिला पुरस्कार

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सड़कों की स्थिति किसी से छिपी नहीं है। गड्ढों में गुम हो चुकी सड़कों में भी अब लोगों ने मौके ढूंढ़ना शुरू कर दिया है। भोपाल में खस्ताहाल सड़कों ने एक नए खेल को जन्म दिया है। इस खेल का नाम है गड्ढा गिनो प्रतियोगिता।

भोपाल के करौंद सब्जी मंडी के पास सोमवार को इस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इस प्रतियोगिता में बड़ी संख्या महिलाएं हिस्सा लेने भी पहुंची थीं। प्रतियोगिता में महिलाओं को यह गिनना था कि सड़क पर कितने गड्ढे हैं। इतना ही नहीं सबसे ज्यादा गड्ढा गिनने वाली महिलाओं को इनाम भी दिया गया। 

प्रतियोगिता के आयोजनकर्ता कांग्रेस नेता मानोज शुक्ल ने बताया कि प्रतियोगिता में तीन महिलाओं को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार दिया गया। इस नायाब प्रतियोगिता को देखने के लिए सैंकड़ों की संख्या में दर्शक भी पहुंचे थे। खास बात ये है कि दर्शक यहां प्रतिभागियों का हौसला बढ़ाने के किए राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे।

यह भी पढ़ें: शहडोल में सड़कों के अभाव में मरीज को खाट पर लाद कर पहुंचाया अस्पताल

इस प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य सांकेतिक रूप से सरकार का विरोध करना और अधिकारियों को जनमानस की समस्याओं से रूबरू कराना था। दरअसल, इस इलाके में सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। जिनकी वजह से रोजाना हादसों का डर बना रहता है। स्थानीय लोगों ने कई बार इसकी शिकायत जनप्रतिनिधियों और नगर निगम से भी की, लेकिन मजाल है किसी ने इनकी किसी शिकायत पर गौर किया हो। आखिरकार थक हार कर अब लोगों ने खस्ताहाल सड़कों को लेकर अपने-अपने तरीके से विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। 

पिछले हफ्ते इसी तरह का प्रदर्शन होशंगाबाद रोड पर देखने को मिला था। यहां गड्ढों वाली सड़कों पर दर्जनों महिलाओं और बच्चों ने कैटवॉक किया था। जिन्हें देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग जमा हुए थे। यहां मॉडल्स की तरह सजी संवरी महिलाएं कीचड़ और गड्ढों के बीच कैटवॉक करती दिखीं थीं।