Vivek Tankha: DGP के आदेश को रद्द करें गृहमंत्री

Corona Effect: DGP का आदेश छुट्टी के दौरान बिना अनुमति बाहर नहीं जा सकेंगे पुलिसकर्मी और अधिकारी

Updated: Aug-02, 2020, 08:28 PM IST

Vivek Tankha: DGP के आदेश को रद्द करें गृहमंत्री

भोपाल। मध्य प्रदेश में डीजीपी विवेक जौहरी ने छुट्टियों के दौरान पुलिसकर्मियों के मुख्यालय छोड़ने पर रोक लगा दी गई है। पुलिसकर्मियों को छुट्टी के दौरान मुख्यालय छोड़ने के पहले जोन प्रभारी पुलिस महानिरीक्षक से अनुमति लेनी होगी। उन्हें यह अनुमति स्वास्थ्य कारणों जैसी विशेष परिस्थियों में ही दी जाएगी। राज्य सभा सांसद विवेक तन्खा ने इस आदेश को अव्यवहारिक बताते हुए गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को पत्र लिखकर इस आदेश को रद्द करने की मांग की है।

सांसद विवेक तन्खा ने लिखा है कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बीच भी पुलिस विभाग तत्परता और जिम्मेदारी से अपने कर्तव्य का पालन करने में जुटा है। ऐसे में पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी फरमान न्याय संगत नहीं है। सांसद ने आदेश को अव्यवहारिक बताया और वापस लेने की मांग की है।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को लिखे पत्र में सांसद तंखा ने कहा है कि पुलिस विभाग के कर्मचारियों की कठिनाइयों और मन: स्थिति समझना चाहिए, वे भी एक परिवार का हिस्सा हैं, और छुट्टी पर उनका भी अधिकार है। वहीं राज्यसभा सांसद ने इस बात का भी जिक्र किया है कि पुलिस विभाग में संख्याबल के हिसाब से दी जाने वाली जाने वाली आवासीय सुविधा का प्रतिशत भी काफी कम है।

ग़ौरतलब है कि डीजीपी ने अपने आदेश में कहा कि अधिकतर पुलिसकर्मी छुट्टी के दौरान यात्रा करते समय और रुकने के दौरान पर्याप्त सावधानी नहीं बरतते हैं. इसके अलावा अवकाश से लौटने के बाद वे क्वारंटाइन का समय भी नहीं पूरा करते हैं, जिसकी वजह से पुलिसकर्मियों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। इसलिए पुलिसकर्मियों को अब मुख्यालय छोड़ने का आदेश विशेष परिस्थितियों में ही दिया जाएगा। 

डीजीपी ने भले ही अवकाश के दौरान मुख्यालय छोड़ने पर रोक लगा दी हो लेकिन पुलिसकर्मियों के लिए कोरोना संक्रमण से बचाव आसान नहीं है। पुलिसकर्मियों को माल जमा करने के लिए ऑन ड्यूटी भोपाल, सागर, ग्वालियर, जबलपुर सहित जिला मुख्यालय तक जाना होता है। मुलजिम की पेशी, वारंटी की धर पकड़ तथा लॉ एंड ऑर्डर ड्यूटी के दौरान भी उन्हें संक्रमित होने का खतरा रहता है।