नियम तोड़ो या कानून तोड़ो, लेकिन सड़क बनाकर दो, पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया के बिगड़े बोल

गुना के बजरंगगढ़ का मामल, रविवार को बनने वाली सड़क के भूमिपूजन में पहुंचे थे पंचायत मंत्री, संबोधन के दौरान अपने प्रयासों का बखान करते करते दे डाला विवादित बयान

Publish: Jul 05, 2021, 09:28 AM IST

नियम तोड़ो या कानून तोड़ो, लेकिन सड़क बनाकर दो, पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया के बिगड़े बोल
Photo Courtesy: Dainik Bhaskar

गुना। इन दिनों शिवराज सरकार में शामिल सिंधिया समर्थक मंत्री लगातार एक के बाद एक विवादित बयान दे रहे हैं। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर और स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के बाद अब पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने कुछ ऐसा कहा है जिससे विवाद बढ़ गया है। रविवार को गुना में एक सड़क के भूमिपूजन में पहुंचे पंचायत मंत्री ने कहा कि उन्होंने अफसरों को सड़क बनाने के सख्त निर्देश दिए थे, चाहे इसके लिए कोई नियम या कानून ही क्यों न तोड़ना पाए। 

दरअसल रविवार को महेंद्र सिंह सिसोदिया गुना से सात किलोमीटर की दूरी पर स्थित बजरंगगढ़ गांव में बनने वाली सड़क के भूमिपूजन में शिरकत करने पहुंचे थे। भूमिपूजन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिसोदिया ने सड़क के निर्माण में अपने प्रयासों का बखान करना शुरू किया। 

संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि लंबे अरसे से यहां लोग सड़क की आस लगाए बैठे थे। मैंने विधायक और मुख्यमंत्री से भी सड़क की गुजारिश की थी। लेकिन बजट का अभाव था। इसके बाद मैंने अधिकारियों से बात की। जिला पंचायत के सीईओ ने भी कहा कि इसमें करोड़ों लग जाएंगे। इसके बाद मैंने प्रधानमंत्री सड़क योजना की बैठक बुलवाई। इसमें मैंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि चाहे नियम तोड़ो या कानून तोड़ो लेकिन यहां पर सड़क बननी चाहिए। 

सिसोदिया के अलावा सिंधिया समर्थक दो अन्य मंत्री अपने विवादित बयानों के कारण चर्चा में हैं। सिसोदिया से पहले ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर तेल के बढ़ते दामों को लेकर यह टिप्पणी कर चुके हैं कि लोगों को सब्जी खरीदने साइकिल से जाना चाहिए। वहीं स्कूल की बढ़ती फीस को कम करने की मांग लेकर आए पालकों को स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार मरने की हिदायत दे चुके हैं।