Narottam Mishra: कमल नाथ पर नरोत्तम मिश्रा का तंज, बोले, इतने बड़े हनुमान भक्त थे तो अमंगल क्यों हुआ

MP By Poll: मंगलवार को घोषणा, मंगलवार को वोटिंग, मंगलवार को मतगणना - इस संयोग को कांग्रेस ने हनुमान भक्त कमल नाथ के लिए मंगल बताया था

Updated: Sep-30, 2020, 04:35 PM IST

Narottam Mishra: कमल नाथ पर नरोत्तम मिश्रा का तंज, बोले, इतने बड़े हनुमान भक्त थे तो अमंगल क्यों हुआ
Photo Courtsey : Prabhasakshi

भोपाल। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ पर तंज कसा है। वजह है कांग्रेस का वह बयान, जिसमें चुनाव के ऐलान, मतदान और मतगणना की तारीख - तीनों मंगलवार को पड़ने के संयोग को हनुमान भक्त कमलनाथ के लिए मंगलकारी बताते हुए खुशी जाहिर की गई थी। इस पर नरोत्तम मिश्रा ने व्यंग्य करते हुए पूछा है कि कमल नाथ अगर इतने बड़े हनुमान भक्त हैं तो फिर उनका अमंगल कैसे हो गया? 

पत्रकारों से बातचीत के दौरान नरोत्तम मिश्रा ने दावा किया कि बीजेपी मध्य प्रदेश उपचुनाव में सभी 28 सीटों पर जीत हासिल करने जा रही है। उन्होंने कहा, 'कांग्रेस दिन में सपने देख रही है। 10 नवंबर को सबको पता चल जाएगा क्योंकि प्रदेश की जनता यह तय कर चुकी है कि अबकी बार बीजेपी की पूर्ण बहुमत सरकार। कमल नाथ जी को यह समझना चाहिए कि काठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ती।'

 

 

बीजेपी ने 3 नवंबर को ऐतिहासिक दिन बताते हुए कहा कि इस दिन प्रदेश के जागरूक मतदाता कांग्रेस के 15 महीने के कुशासन और झूठे वादों के खिलाफ वोट डालकर बीजेपी सरकार को मजबूत करेंगे। उन्होंने दावा किया कि बीजेपी का हर निष्ठावान कार्यकर्ता इसकी तैयारी में लगा है।

और पढ़ें: मंगल को तारीख, मंगल को वोटिंग, मंगल को रिजल्ट, कांग्रेस ने कहा, हनुमान भक्त कमल नाथ का मंगल ही मंगल

चुनाव आयोग ने उपचुनाव की तारीखों का ऐलान मंगलवार, 29 सितंबर को किया। इस चुनावी कार्यक्रम के मुताबिक मतदान मंगलवार 3 नवंबर को और मतगणना उसके अगले मंगलवार यानी 10 नवंबर को होनी है। मंगलवार के इसी संयोग को कांग्रेस ने कमलनाथ के लिए मंगलकारी बताते हुए कहा था कि हनुमान भक्त कमलनाथ को भगवान का वरदान मिल गया है।

 

 

गौरतलब है कि कमल नाथ अपनी हनुमान भक्ति के कारण जाने जाते हैं। उन्होंने छिंदवाड़ा जिले में भगवान हनुमान की 101 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित करवाई है। वे सभी महत्वपूर्ण अवसरों पर इस मंदिर में हनुमान जी के दर्शन और पूजा अर्चना करने जाते हैं। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले और बाद में भी कमल नाथ छिंदवाड़ा में सिमरिया स्थित हनुमान मंदिर पहुंचे थे। अयोध्या में  5 अगस्त को राम मंदिर भूमि पूजन के अवसर पर भी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने अपने निवास पर पूजा के साथ 'हनुमान चालीसा' और सुंदरकांड का पाठ किया था।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में उपचुनाव का कार्यक्रम घोषित, जानिए चुनाव से जुड़ी अहम बातें