भोपाल में युवा शक्ति समागम: युवा कांग्रेस चुनाव के बाद विक्रांत भूरिया का पहला शक्ति प्रदर्शन

अध्यक्ष पद संभालने के साथ ही विक्रांत भूरिया ने किसान स्वाभिमान मार्च निकालकर कृषि कानूनों के खिलाफ फूंका बिगुल, राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास समेत हजारों कार्यकर्ता मौजूद

Updated: Dec 27, 2020, 09:33 PM IST

भोपाल में युवा शक्ति समागम: युवा कांग्रेस चुनाव के बाद विक्रांत भूरिया का पहला शक्ति प्रदर्शन
Photo Courtesy : Twitter

भोपाल। मध्य प्रदेश युवक कांग्रेस के नवनिर्वाचित अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने आज पद संभालने के साथ ही कृषि कानूनों के मसले पर केंद्र सरकार के खिलाफ बिगुल फूंक दिया। भूरिया ने कहा है कि अगर हम आज अन्नदाताओं के लिए नहीं लड़े, तो हमारे युवा होने का कोई मतलब नहीं है। 

मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस ने आज राजधानी भोपाल में विक्रांत भूरिया के पदभार ग्रहण के मौके पर युवा शक्ति समागम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम के लिए युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बी.वी, मीडिया विभाग के प्रभारी राहुल राव समेत संगठन के अन्य पदाधिकारी व हजारों कार्यकर्ता राजधानी भोपाल में मौजूद हैं। इस दौरान यूथ कांग्रेस ने किसानों के समर्थन में प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से लेकर बोर्ड ऑफिस चौराहे तक किसान सम्मान मार्च भी निकाला। इस कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत तमाम वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं को भी बुलाया गया।

यह भी पढ़ें: यूथ कांग्रेस अध्यक्ष बनते ही एक्शन में विक्रांत भूरिया, कृषि कानूनों के खिलाफ फूंका बिगुल

मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस के चुनाव के बाद बनी नई कमेटी के पदाधिकारियों के हौसले बुलंद हैं। माना जा रहा है कि युवक कांग्रेस के नवनिर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने आज इस कार्यक्रम के माध्यम से राजधानी में अपना पहला शक्ति प्रदर्शन किया है। भूरिया ने इस मार्च के माध्यम से प्रदेश सरकार समेत अपने विपक्षियों को एक तरह से एक संदेश देने का प्रयास किया है कि अब यूथ कांग्रेस की नई कमेटी तमाम मसलों पर सबसे आगे रहेगी।

 

विक्रांत भूरिया ने इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि यूथ कांग्रेस का काम ही यही है कि हर संघर्ष में सबसे पहली लाठी जिसे पड़े वह युवा कांग्रेस का कार्यकर्ता हो। उन्होंने कहा, 'हमारे युवाओं में जिस तरह ताकत और जोश देखने को मिल रहा है उसे देखकर मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाले नगर निकाय चुनावों में कांग्रेस को जबरदस्त सफलता मिलेगी।'

यह भी पढ़ें: छल से चुनाव लड़ने वालों के खिलाफ विक्रांत भूरिया के सख्त तेवर, संगठन से बाहर का दिखाया रास्ता

किसान आंदोलन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, 'जो हमें अन्न देते हैं, हमारा पेट भरते हैं, आज हम उसके लिए लड़ाई नहीं लड़ेंगे तो हमारे युवा होने का कोई मतलब नहीं है। इस संघर्ष में हम किसानों के साथ खड़े हैं और आखिरी दम तक खड़े रहेंगे। हम अपनी पूरी ताकत लगा देंगे और इन काले कानूनों को वापस करने पर सरकार को मजबूर करेंगे।