नारू दादा बन बस कंडक्टरों से वसूली करते थे नरोत्तम मिश्रा, चार दशक तक भाजपा में रहे नेता ने खोली पोल

भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष गुरुदेव शरण गुप्ता ने कांग्रेस के जनजागरण अभियान के दौरान नरोत्तम मिश्रा के बारे में कई खुलासे किए, पूर्व भाजपा नेता ने कहा कि नरोत्तम मिश्रा चुनावों में अनैतिक हथकंडे अपनाने से भी बाज नहीं आते

Updated: Nov 26, 2021, 07:12 PM IST

नारू दादा बन बस कंडक्टरों से वसूली करते थे नरोत्तम मिश्रा, चार दशक तक भाजपा में रहे नेता ने खोली पोल

दतिया/भोपाल। चार दशकों से भी अधिक समय तक भाजपा में रहने वाले गुरुदेव शरण गुप्ता ने शिवराज सरकार में नंबर दो के मंत्री नरोत्तम मिश्रा की पोल खोल कर रख दी है। पूर्व भाजपा नेता ने नरोत्तम मिश्रा के अतीत के पन्नों को उलटते हुए बताया है कि नरोत्तम मिश्रा किसी समय नारू दादा बनकर बस कंडक्टरों से रंगदारी वसूला करते थे। देव शरण गुप्ता ने नरोत्तम मिश्रा के बारे में बताया कि वह चुनावों में अनैतिक हथकंडों को अपनाने से भी बाज नहीं आते। 

गुरुदेव शरण गुप्ता ने यह बात कांग्रेस के जन जागरण अभियान के मंच पर कही। गुरुदेव शरण गुप्ता के संबोधन के दौरान राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह खुद मंच पर मौजूद थे। कांग्रेस नेता ने जन जागरण अभियान के दौरान दतिया में आयोजित जनसभा में नरोत्तम मिश्रा पर धौंस और घमंड की राजनीति करने का आरोप लगाया। 

नरोत्तम मिश्रा पर लगाए अपने आरोपों को सिद्ध करने के लिए दिग्विजय सिंह ने लंबे अरसे तक नरोत्तम मिश्रा के सहयोगी रहे और 44 वर्षों तक भाजपा के सदस्य रहे गुरुदेव शरण गुप्ता को माइक थमा दी। इसके बाद पूर्व भाजपा नेता ने एक एक कर नरोत्तम मिश्रा के अतीत से लेकर वर्तमान तक के बारे में कई खुलासे कर दिए। 

पूर्व भाजपा नेता ने कहा कि नरोत्तम मिश्रा पहले नारू दादा बनकर बस कंडक्टरों से बीस बीस रुपए वसूला करते थे। भाजपा नेता ने कहा कि वे नरोत्तम मिश्रा की हरकतों से अच्छी तरह से वाकिफ हैं, और मिश्रा की हरकतों से ही तंग आकर उन्होंने तीन साल पहले भाजपा छोड़ दी। 

गुरुदेव शरण गुप्ता ने नरोत्तम मिश्रा पर चुनावों में धन बल के दुरुपयोग का भी आरोप लगाया। गुप्ता ने कहा कि जब वे बीजेपी के जिला अध्यक्ष थे तब नरोत्तम मिश्रा अमूमन उससे कहा करते थे कि चुनाव और बीमारी एक जैसी होती है। इसलिए मैं चुनाव और बीमारी में कोई कॉम्प्रोमाइज नहीं करता। गुरुदेव शरण गुप्ता ने बताया कि नरोत्तम मिश्रा द्वारा यह बात कही जाने पर जब उन्होंने मिश्रा को आदर्श राजनीति करने की याद दिलाई तब नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि यह सिर्फ तो बातें हैं। 

गुरुदेव शरण गुप्ता ने जनसभा के दौरान मौजूद लोगों से कहा कि आप लोग खुद भी नरोत्तम मिश्रा से भली भांति परिचित हैं कि कैसे वह चुनावों को जीतता है। गुरुदेव शरण गुप्ता ने कहा कि नरोत्तम मिश्रा खुद एक डरपोक आदमी है, इसलिए उससे डरने की कोई जरूरत नहीं है। 

इससे पहले खुद दिग्विजय सिंह भी नरोत्तम मिश्रा को वापस डबरा के बस स्टैंड पर जाकर काम करना चाहिए। कांग्रेस नेता ने नरोत्तम मिश्रा द्वारा रामधुन पर की गई टिप्पणी के जवाब में कहा था कि वे नरोत्तम मिश्रा को गंभीरता से नहीं लेते। नरोत्तम मिश्रा डबरा में बस कंडक्टरों से बीस बीस रुपए की वसूली किया करते थे। अब वे कलेक्टरों और एसपी से वसूली करते थे। उन्हें वापस डबरा बस स्टैंड पर काम करना चाहिए।