थंब इंप्रेशन के लिए मेड इन चाइना मशीन, विदिशा के गर्ल्स कॉलेज में घोटाला, दोगुने से भी ज्यादा दाम में हुई खरीदी

विदिशा के शासकीय कन्या महाविद्यालय में थंब इंप्रेशन मशीन खरीदी में भ्रष्टाचार, चहेती फर्म को लाभ पहुंचाने के लिए 11 हजार की मशीन 25 हजार में खरीदा।

Updated: Nov 13, 2022, 05:24 PM IST

थंब इंप्रेशन के लिए मेड इन चाइना मशीन, विदिशा के गर्ल्स कॉलेज में घोटाला, दोगुने से भी ज्यादा दाम में हुई खरीदी

विदिशा। राजधानी भोपाल से सटे विदिशा जिले में भ्रष्टाचार का एक बड़ा मामला सामने आया है। यहां थंब इंप्रेशन मशीन खरीदी में बड़े स्तर पर घोटाला किया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक मशीन को दोगुने से भी ज्यादा दामों में खरीदा गया। मामला सामने आने के बाद प्राचार्य ने चुप्पी साध ली है।

जानकारी के मुताबिक थंब इंप्रेशन वाले कुल 13 मशीन खरीदे गए थे। नियम है कि मेड इन चाइना सामान न खरीदी जाए और एमआरपी से अधिक भुगतान न की जाए। लेकिन कॉलेज की प्रभारी प्राचार्या मंजू जैन ने मोटा कमीशन पाने और अपनी चहेती फर्म को लाभ पहुंचाने सारे नियमों को ताक पर रख दिया।

मंजू जैन ने मेड इन चाइना की मशीन जिसकी कीमत 11000 रुपये थी उसे करीब 25000 में खरीदकर कॉलेज में इंस्टॉल भी करवा दी। इतना ही नहीं पिछले महीने ही उन्होंने फर्म को 3 लाख 36 हजार रुपए का भुगतान भी कर दिया। मामले का भंडाफोड़ होते ही मशीनों को कॉलेज से हटा दिया। प्रभारी प्रिंसिपल ने गलती स्वीकार करते हुए दूसरी मशीन लगवाने की बात कही है।

बता दें कि यह पहला मामला नहीं है जब प्राचार्य मंजू जैन के कारनामे सामने आए हैं। वे पिछले कई साल से कॉलेज में हुईं हैं। साल 2019 में उनका ट्रांसफर रीवा हो गया था। हालांकि, अपने रसूख के दाम पर उन्होंने स्थानांतरण कैंसिल करवा लिया। चूंकि यह नोडल कॉलेज भी है तो जिलेभर के शासकीय अशासकीय कॉलेज इसी कॉलेज के अंतर्गत आते है। प्राइवेट कॉलेज के संचालक बताते हैं कि छात्रवृत्ति रिलीज करवाने से लेकर अन्य संबंधित कार्य बगैर लेन-देन के संभव नहीं होते।