गिरफ्तार चीनी नागरिक का खुलासा, रक्षा मंत्रालय समेत भारत सरकार की वेबसाइट हैक करने की फिराक में हैं कई चीनी एजेंसियां

भारत में अवैध तरीके प्रवेश करते पकड़े गए चीनी नागरिक हैन जुनवे ने कहा चीनी एजेंसियों ने बंगलूरू की उस कंपनी को निशाना बनाया है जो कि केंद्र के विभिन्न मंत्रालयों और BSNL से जुड़ी हुई हैं, जिससे भारत की सुरक्षा और वित्तीय वेबसाइट्स को हैक किया जा सके

Updated: Jun 25, 2021, 06:49 PM IST

गिरफ्तार चीनी नागरिक का खुलासा, रक्षा मंत्रालय समेत भारत सरकार की वेबसाइट हैक करने की फिराक में हैं कई चीनी एजेंसियां
Photo Courtesy: Amar ujala

पश्चिम बंगाल के मालदा जिले से सुरक्षा बलों ने एक चीनी नागरिक को गिरफ्तार किया था। इस चीनी नागरिक ने कड़ी पूछताछ के बाद स्वीकार किया है कि चीन की कई एजेंसिंया रक्षा मंत्रालय, STF समेत भारत की कई सरकारी वेबसाइट हैक करने की कोशिश में हैं।

भारत की सीमा में अवैध तरीके से पकड़े गए चीनी नागरिक हैन जुनवे ने बताया है कि चीनी एजेंसियों ने बंगलूरू की उस कंपनी को निशाना बनाया है जो कि केंद्र के विभिन्न मंत्रालयों और BSNL से जुड़ी हुई हैं। मीडिया में छपी रिपोर्ट की मानें तो एयरोस्पेस कंपनियां भी इन एजेंसियों के निशाने पर हैं। चीनी नागरिक का दावा है कि चीन की एजेंसियां भारत की रक्षा प्रणाली में तांक-झांक करने का प्रयार कर रही हैं। जिसके लिए वे भारतीय रक्षा मंत्रालय की विभिन्न वेबसाइट्स को हैक करने की फिराक में हैं।

एसटीएफ चीनी नागरिक हैन जुनवे और उन हैकर्स एजेंसियों के संबंध की पड़ताल में भी जुटी हैं। इस बात का पता लगाया जा रहा है कि भारत में वह किस मंशा से घुसा है, कहीं उसका संबंध किसी प्रतिबंधित नक्सली संगठन से तो नही हैं। सुरक्षा एजेंसियों के एक्सपर्ट्स इस चीनी नागरिक के मोबाइल फोन और लैपटॉप को अनलॉक करने की कोशिश में हैं, जो कि इनके लिए काफी जटिल साबित हो रहा है।

10 जून को इस चीनी नागरिक को बंगाल में एसएसबी के जवानों ने भूटान बॉर्डर पर पकड़ा था। यह एक 52 वर्षीय शख्स भूटान की सीमा में प्रवेश करने की फिराक में था। इसके पास चीन का वैध पासपोर्ट मिला है, लेकिन इसका भारतीय पर्यटक वीजा की अवधी समाप्त हो चुकी है। इससे इंटेलिजेंस ब्यूरो पूछताछ कर रही है। आईबी की काउंटर इंटेलिजेंस सेल को उम्मीद है कि इससे कई और बड़े खुलासे हो सकते हैं।