सीताराम येचुरी, योगेंद्र यादव, जयति घोष सह अभियुक्त नहीं

Delhi Police: पुलिस ने मीडिया रिपोर्ट्स का किया खंडन, चार्जशीट में इनका नाम सह साजिशकर्ता के रूप में नहीं

Updated: Sep 13, 2020 05:13 PM IST

सीताराम येचुरी, योगेंद्र यादव, जयति घोष सह अभियुक्त नहीं
Photo Courtsey: The wire

नई दिल्ली। दिल्ली दंगों के मामले में फ़ाइल किए गए चार्जशीट को लेकर दिल्ली पुलिस ने रविवार को सफाई दी है। पुलिस ने शनिवार को मीडिया में चलाए गए उन खबरों का खंडन किया है जिसमें कहा गया था कि सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी, स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव, दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर अपूर्वानंद, अर्थशास्त्री जयति घोष और डॉक्यूमेंट्री फिल्ममेकर राहुल रॉय के नाम बतौर सह-साजिशकर्ता पूरक-चार्जशीट में शामिल किए गए हैं।

दिल्ली पुलिस ने अपने एक ट्वीट में कहा, 'यह स्पष्ट किया जाता है की सीताराम येचुरी, योगेंद्र यादव और जयति घोष को दिल्ली पुलिस द्वारा दायर पूरक आरोप पत्र में अभियुक्त के रूप में शामिल नहीं किया गया है।' पुलिस ने कहा है कि एक व्यक्ति को केवल डिस्क्लोजर किए गए बयान के आधार पर अभियुक्त नहीं बनाया जाता है। केवल पर्याप्त पुष्टि योग्य सबूतों के आधार पर ही आगे की कानूनी करवाई की जाती है। मामला फिलहाल विचाराधीन है।

बता दें कि इस मामले को लेकर शनिवार शाम से ही राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई थी। विपक्ष लगातार केंद्र सरकार व दिल्ली पुलिस के कार्यशैली को संदिग्ध बता रही थी। खुद सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर इसे गैरकानूनी बताया था। उन्होंने कहा था कि, 'दिल्ली पुलिस भाजपा की केंद्र सरकार और गृह मंत्रालय के नीचे काम करती है। उसकी ये अवैध और ग़ैर-क़ानूनी हरकतें भाजपा के शीर्ष राजनीतिक नेत्रत्व के चरित्र को दर्शाती हैं। वो विपक्ष के सवालों और शांतिपूर्ण प्रदर्शन से डरते हैं, और सत्ता का दुरुपयोग कर हमें रोकना चाहते हैं।'

Click: Delhi Riots चार्जशीट में येचुरी, योगेंद्र यादव, जयति घोष, अपूर्वानंद के नाम

सीपीएम नेता ने आगे कहा था कि, '56 लोग दिल्ली की हिंसा में मारे गए। ज़हरीले भाषणों का video है, उन पर कार्यवाई क्यों नहीं हो रही है? क्योंकि सरकार ने आदेश दिया है कि विपक्ष को लपेटा जाए, किसी भी तरह से। यही है मोदी और BJP का असली चेहरा, चरित्र, चाल और चिंतन। विरोध तो होगा इसका।' वहीं मामले पर कांग्रेस नेता व राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने भी येचुरी का समर्थन किया था। उन्होंने येचुरी के ट्वीट को रिट्वीट कर कहा, 'भाजपा को बड़ी ग़लतफ़हमी है, कॉमरेड सीताराम यचुरी व योगेंद्र यादव जैसे लोग दिल्ली पुलिस की गीदड़भभकी से डर जाएँगे।'

 

 

Click: बीजेपी नेता अनुराग ठाकुर व प्रवेश वर्मा के खिलाफ FIR नहीं

बता दें कि शनिवार को खबर आई थी कि इन पर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को किसी भी हद तक जाने, सीएए-एनआरसी को समुदाय विशेष का विरोधी बताकर लोगों को भड़काने और सरकार की छवि को धूमिल करने के लिए धरना प्रदर्शन आयोजित करने के लिए कहने का आरोपी बनाया है। इसके बाद रवीवार को दिल्ली पुलिस ने इन खबरों का खंडन किया है।