वन मैन, वन पोस्ट हमारा कमिटमेंट: राहुल गांधी का स्पष्ट संदेश, CM पद छोड़ने को राजी हुए गहलोत

कोच्चि में मीडिया को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने संकेत दिया कि यदि गहलोत अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें सीएम पद छोड़ना होगा, उधर गहलोत ने सहमति दे दी कि वह पद छोड़ने के लिए तैयार हैं

Updated: Sep 22, 2022, 04:01 PM IST

वन मैन, वन पोस्ट हमारा कमिटमेंट: राहुल गांधी का स्पष्ट संदेश, CM पद छोड़ने को राजी हुए गहलोत

कोच्चि/नई दिल्ली। कांग्रेस में अध्यक्ष पद के चुनाव की गहमागहमी के बीच राहुल गांधी ने आज पार्टी में 'वन मैन, वन पोस्ट' का समर्थन किया। कोच्चि में पत्रकारों से बातचीत के दौरान राहुल गांधी ने स्पष्ट संकेत दिए कि यदि गहलोत अध्यक्ष बनते हैं तो उन्हें सीएम पद छोड़ना पड़ेगा। इसी बीच खबर आई है कि गहलोत भी सीएम पद छोड़ने को लेकर राजी हो गए हैं।

राहुल गांधी ने पत्रकारों से कहा कि, 'जो हम सभी ने उदयपुर में तय किया था, वह कांग्रेस का एक कमिटमेंट है। मैं आशा करता हूं, हम अपने उस कमिटमेंट पर खरे उतरेंगे।' राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद के लिए शामिल नेताओं को सलाह देते कहा कि, 'आप जिस पद को हासिल करने जा रहा है, वह ऐतिहासिक है और भारत के एक विचार का प्रतिनिधित्व करता है। यह महज एक संगठन का पद नहीं है बल्कि वैचारिक पद है, जो एक विश्वास का प्रतिनिधत्व करता है।'

इधर सीएम गहलोत ने कहा कि अध्यक्ष का पद एक व्यक्ति-एक पद के दायरे में नहीं आता, लेकिन इतिहास में कोई कांग्रेस अध्यक्ष मुख्यमंत्री नहीं रहा, इसलिए फैसला करना पड़ेगा। उन्होंने एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि, 'मेरे बारे में भावना बन गई है इसलिए उसका सम्मान करते हुए मैं फॉर्म भरूंगा।'
सचिन पायलट को CM बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि, 'जो हालत राजस्थान के अंदर हैं, हाईकमान उसकी स्टडी करेगा और देखेगा कि विधायकों की क्या भावना है। यह ध्यान रखना होगा कि हम अगला चुनाव जीतें क्योंकि अब कांग्रेस के पास बड़ा राज्य राजस्थान ही है। हमारे लिए यह फैसला बहुत नाजुक फैसला भी होगा और बहुत सोच समझकर लेना पडे़गा।'

यह भी पढ़ें: कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव को लेकर दिग्विजय सिंह की गुगली, बोले- मुझे भी चुनाव लड़ने का अधिकार

पायलट के नाम पर ऐतराज होने के सवाल पर गहलोत ने कहा, 'मैं किसी के नाम की न चर्चा करता हूं और न कर रहा हूं। हमें यह देखना है कि कौन आए, जिससे मैसेज जाए कि पार्टी एकजुट है और हम किसी भी कीमत पर सरकार रिपीट करें। इससे अन्य राज्यों में भी पार्टी का रिवाइवल हो। यह बहुत बड़ा फैसला होगा और यह सोच समझकर लेना पड़ेगा।'