प्रियंका चतुर्वेदी ने दिया संसद टीवी से इस्तीफा, वेंकैया नायडू को भेजा त्यागपत्र

प्रियंका चतुर्वेदी ने संसद टीवी से त्यागपत्र देने के पीछे अपने और अन्य सांसदों के निलंबन का हवाला दिया, शिवसेना नेता ने कहा कि ऐसे वक्त में जब संसदीय नियमों का अनुसरण नहीं किया जा रहा है, आवाजों को दबाया जा रहा है, वे संसद टीवी के शो होस्ट नहीं कर सकतीं

Publish: Dec 05, 2021, 02:33 PM IST

प्रियंका चतुर्वेदी ने दिया संसद टीवी से इस्तीफा, वेंकैया नायडू को भेजा त्यागपत्र

नई दिल्ली। शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने संसद टीवी से इस्तीफा दे दिया है। प्रियंका चतुर्वेदी ने अपना त्यागपत्र राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू को भेज दिया है। जिसमें प्रियंका चतुर्वेदी ने वेंकैया नायडू को अपने और अन्य ग्यारह सांसदों के निलंबन को शो से इस्तीफा देने का कारण बताया है। 

प्रियंका चतुर्वेदी ने उपराष्ट्रपति को भेजे अपने त्यागपत्र में कहा है कि वे संसद टीवी के शो मेरी कहानी में एंकर की भूमिका को आगे नहीं निभा सकतीं। शिवसेना नेता ने कहा कि संसदीय नियमों के खिलाफ जा कर मेरी और मेरी पार्टी की आवाज को संसद में दबाए जाने का प्रयास किया गया है। जिसके बाद में शो से बतौर एंकर जुड़ने की इच्छुक नहीं हूं क्योंकि मुझे मेरे संवैधानिक शपथ से वंचित किया गया है। 

शिवसेना नेता ने निलंबन को लेकर कहा कि यह संसदीय इतिहास में पहली बार हुआ है जब इतनी बड़ी संख्या में सांसदों को पूरे सत्र से निलंबित किया गया है। ऐसा संसदीय इतिहास में कभी नहीं हुआ जब पिछले सत्र का हवाला देकर सांसदों को निलंबित किया गया हो। इसलिए तमाम सांसदों के समर्थन में खड़ा रहना मेरा दायित्व बनता है। 

शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन प्रियंका चतुर्वेदी समेत कुल बारह सांसदों को पूरे सत्र से निलंबित कर दिया गया। सांसदों के निलंबन का आधार उनके पिछले सत्र के दौरान आचरण को बनाया गया। इन सांसदों को बिना सूचित किए पूरे सत्र से निलंबित कर दिया गया। जिसके बाद केंद्र सरकार को विपक्ष के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा।

लेकिन इसके बावजूद इन सांसदों के निलंबन को अब तक वापस नहीं लिया गया है। निलंबित होने वाले सांसदों में सबसे अधिक 6 सांसद कांग्रेस पार्टी के हैं। जबकि दो दो सांसद शिवसेना और टीएमसी के हैं। वहीं सीपीआई और सीपीएम के एक एक सांसद हैं।