अकाउंट हैकर का पता लगाने के लिए केंद्र सरकार ने उतारी फौज, ट्विटर ने भी जारी किया बयान

प्रधानमंत्री मोदी के अकाउंट हैकिंग का सोर्स पता करने के लिए केंद्र सरकार ने इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम को काम में लगा दिया है, वहीं ट्विटर ने भी एक बयान जारी करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय के साथ संवाद के लिए ट्विटर के दरवाजे से 24 घंटे खुले हुए हैं

Publish: Dec 12, 2021, 12:26 PM IST

अकाउंट हैकर का पता लगाने के लिए केंद्र सरकार ने उतारी फौज, ट्विटर ने भी जारी किया बयान

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्विटर अकाउंट हैक करने वाले हैकर्स का पता लगाने के लिए केंद्र सरकार जुट गई है। हैकिंग का सोर्स पता करने के लिए केंद्र सरकार ने इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम को मैदान में उतार दिया है। CERT-IN की टीम हैकिंग का सोर्स पता करने में जुटी हुई है। 

वहीं माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने भी प्रधानमंत्री मोदी का अकाउंट हैक करने के बाद बयान जारी किया है। ट्विटर ने कहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय के साथ संवाद के लिए कंपनी 24 घंटे उपलब्ध है। ट्विटर ने अब तक की अपनी जांच के बारे में बताया है कि प्रधानमंत्री का अकाउंट हैक करने में ट्विटर की आंतरिक सिस्टम का उपयोग नहीं किया गया था। 

ट्विटर ने कहा कि शुरुआती तौर पर ऐसा प्रतीत होता है कि यह एक ऐसा अटैक था जो किसी विशेष खाते को टारगेट बनाकर किया गया था। इसके साथ ही ट्विटर की जांच में यह जानकारी भी सामने आई है कि प्रधानमंत्री मोदी का अकाउंट हैक करने में पिछली बार से अलग पैटर्न में किया गया है। बीते साल दुनिया भर के टॉप नेताओं के अकाउंट हैक किए गए थे, जिसमें कोऑर्डिनेटेड सोशल इंजीनियरिंग अटैक्स का उपयोग किया गया था। 

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री मोदी का ट्विटर अकाउंट हैक, हैकर ने की बिटकॉइन को भारत में मंजूरी देने की घोषणा

दरअसल रविवार देर रात प्रधानमंत्री मोदी के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया कि भारत सरकार ने बिटकॉइन को कानूनी मान्यता दे दी है। इसके साथ ही सरकार पांच सौ बिटकॉइन का वितरण भी कर रही है। इस ट्वीट को रात के दो बजकर ग्यारह मिनट पर किया गया था। लेकिन जल्द ही इसे डिलीट कर दिया गया। ठीक दो मिनट बाद एक ऐसा ही ट्वीट दोबारा किया गया।

यह भी पढ़ें: न्याय नहीं मिलने के कारण पानी टंकी पर चढ़ा परिवार, प्रशासन की ओर से मनाने की कोशिश जारी

इस घटनाक्रम के एक घंटे बाद करीब 3.18 बजे प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट कर यह जानकारी दी गई कि प्रधानमंत्री ट्विटर अकाउंट को निशाना बनाया गया था। जिसके बाद प्रधानमंत्री के ट्विटर अकाउंट को तत्काल प्रभाव से सुरक्षित कर लिया गया। पीएमओ ने हैकर द्वारा बिटकॉइन के संबंध में किए गए ट्वीट को नजरअंदाज करने की अपील की।