गुजरात दंगों से जुड़ी BBC की डॉक्यूमेंट्री पर बवाल, केंद्र ने वीडियो शेयर करने वाले ट्वीट्स को ब्लॉक करने का दिया निर्देश

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुजरात दंगों के लिए जिम्मेदार बताने वाली बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री को शेयर करने वाले ट्वीट ब्लॉक करने का आदेश दिया है।

Updated: Jan 21, 2023, 04:53 PM IST

गुजरात दंगों से जुड़ी BBC की डॉक्यूमेंट्री पर बवाल, केंद्र ने वीडियो शेयर करने वाले ट्वीट्स को ब्लॉक करने का दिया निर्देश
Photo Courtesy: The wire

नई दिल्ली। गुजरात दंगों की सीक्रेट जांच रिपोर्ट के आधार पर बीबीसी की दो पार्ट्स में बनी डॉक्यूमेंट्री "India: The Modi Question" पर राजनीति गरमा गयी है। भारत सरकार इसे दुष्प्रचार बता रही है। इसी बीच अब खबर आई है कि केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दंगों को जिम्मेदार बताने वाली बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री शेयर करने वाले ट्वीट ब्लॉक करने का आदेश दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने आदेश दिया है कि, बीबीसी डॉक्यूमेंट्री के पहले एपिसोड के YouTube पर शेयर किए गए सभी वीडियो को ब्लॉक किया जाए। साथ ही ट्विटर को भी बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री "इंडिया: द मोदी क्वेश्चन" के यूट्यूब वीडियो के लिंक वाले 50 से अधिक ट्वीट्स को ब्लॉक करने का आदेश दिया गया है।

यह भी पढ़ें: बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री को केंद्र सरकार ने बताया प्रोपगैंडा, गुजरात दंगों में तत्कालीन राजनीतिक सत्ता को बताया है ज़िम्मेदार

जानकारी के अनुसार वीडियो शेयर करने वालों के साथ ही डॉक्यूमेंट्री के YouTube के लिंक को ट्वीट के जरिए शेयर करने वालों को भी ब्लॉक कर दिया गया है सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार को सूचना एवं प्रसारण सचिव की ओर से IT नियम, 2021 के तहत आपातकालीन शक्तियों का उपयोग करते हुए निर्देश जारी किए गए थे। यूट्यूब और ट्विटर दोनों ने इन निर्देशों का अनुपालन किया है।

दरअसल, इस डॉक्यूमेंट्री में गुजरात दंगों के लिए नरेंद्र मोदी को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया गया है। डॉक्यूमेंट्री में बताया गया है कि गुजरात दंगों के दौरान मुस्लिम महिलाओं का योजनाबद्ध तरीके से बलात्कार किया गया था। इस डॉक्यूमेंट्री में दंगों को लेकर पीएम मोदी का इंटरव्यू करने वालीं बीबीसी की जिल मैक्गिवरींग ने नरेंद्र मोदी को काफी खतरनाक व्यक्ति के रूप में वर्णित किया है। वहीं, केंद्र सरकार ने इसे प्रोपगैंडा का हिस्सा करार दिया है।