नई सरकार बनते ही इजरायल ने तोड़ा सीजफायर, गाजा पट्टी पर एयरस्ट्राइक, इमारतों पर बरसाए बम

इजरायली एयरफोर्स ने गाजा पट्टी के दक्षिणी हिस्से में स्थित खान यूनुस के पूर्व में एक साइट पर अटैक किया, फिलीस्तीन की तरफ से भेजे गए आग वाले गुब्बारे

Updated: Jun 16, 2021, 10:12 AM IST

नई सरकार बनते ही इजरायल ने तोड़ा सीजफायर, गाजा पट्टी पर एयरस्ट्राइक, इमारतों पर बरसाए बम
Photo Courtesy: Twitter

यरुशलम। इजरायल में नई सरकार बनते ही फिलिस्तीन से जंग की स्थिति उत्पन्न हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इजरायली सेना ने सीजफायर का उल्लंघन करते हुए एयरस्ट्राइक कर दिया है। समाचार एजेंसी एएफपी ने बताया कि इजरायली एयरफोर्स ने बुधवार तड़के गाजा पट्टी पर राकेट से हमला किया। इजरायल ने यह कदम फिलीस्तीन की तरफ से आग वाले गुब्बारे भेजने के बाद उठाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इजरायल की वायुसेना ने दक्षिणी गाजा शहर के खान युनुस इलाके को निशाना बनाया। एएफपी के एक फोटो जॉर्नलिस्ट ने इन धमाकों को देखा है। इजरायल के सुरक्षा बलों का कहना है कि हमास द्वारा भेजे आर्सन गुब्बारों के जवाब में हमारे लड़ाकू विमानों ने हमास के आतंकवादी गतिविधियों से संबधित ठिकानों पर हमला किया।

यह भी पढ़ें: इजरायल में नेतन्याहू का दौर खत्म, नाफ्ताली बेनेट बने देश के नए प्रधानमंत्री

दरअसल, इजरायल के धुर राष्ट्रवादियों ने शक्ति प्रदर्शन करने के लिए मंगलवार को पूर्वी यरूशलम में एक परेड निकाली थी। इस परेड के दौरान काफी उत्तेजक नारेबाजी की गई थी। इससे फिलीस्तीन काफी नाराज था। परेड के जवाब में गाजा से फिलिस्तीन के लोगों ने आग लगे गुब्बारे छोड़ दिए थे। उनकी इस गतिविधि से दक्षिणी इस्राइल में कम से कम 20 जगहों पर आग लग गई थी। इसी के जवाब स्वरूप इजरायली सेना ने रॉकेट से हमला किया। 

इजरायल द्वारा सीजफायर उल्लंघन के बाद हमास के प्रवक्ता ने कहा कि फिलिस्तीनी जेरूसलम में अपने अधिकारों और पवित्र स्थलों की रक्षा करना जारी रखेंगे। उधर इजरायल ने इसे उकसावे की कार्रवाई और सीजफायर का उल्लंघन मानने से इनकार करते हुए कहा कि उसने केवल डिफेंस में ऐसा किया है। बहरहाल इस अटैक में अबतक किसी नागरिक के जान जाने की खबर नहीं है।

तीन दिन पहले ही बने हैं नए प्रधानमंत्री

इसके पहले नफ्ताली बेनेट ने रविवार को इजराइल के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। इसी के साथ 12 साल से प्रधानमंत्री पद पर काबिज बेंजामिन नेतन्याहू का कार्यकाल खत्म हो गया। संसद में बहुमत हासिल करने के बाद दक्षिणपंथी यामिना पार्टी के 49 वर्षीय नेता बेनेट ने रविवार को शपथ ली। नयी सरकार में 27 मंत्री हैं जिनमें से नौ महिलाएं हैं। बेनेट 120 सदस्यीय सदन में 61 सांसदों के साथ मामूली बहुमत वाली सरकार का नेतृत्व करेंगे।