एक दिन के लिए स्वच्छता एम्बेसडर बने रज़ा मुराद बोले, मंत्री जी को मेरा नाम पसंद नहीं आया

13 जनवरी को नगर निगम भोपाल ने एक्टर रजा मुराद को बनाया था ब्रांड एम्बेसडर, दूसरे ही दिन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने हटवा दिया, रज़ा मुराद का कहना है कि नगर निगम को पत्र लिखने से पहले मंत्री जी को भोपाल में मेरी जड़ों के बारे में जानना चाहिए था

Updated: Jan 15, 2022, 06:02 PM IST

एक दिन के लिए स्वच्छता एम्बेसडर बने रज़ा मुराद बोले, मंत्री जी को मेरा नाम पसंद नहीं आया

भोपाल। एक्टर रज़ा मुराद को राजधानी भोपाल का स्वच्छता राजदूत बनाया गया था, जिसके 24 घंटों में ही उन्हें हटा दिया गया है। इस मुद्दे पर रज़ा मुराद का रिएक्शन सामने आया है। एक्टर ने कहा है कि शायद मंत्री जी को मेरा नाम और काम पसंद नहीं आया है। इसलिए मंत्री के कहने पर निगम ने अपने ब्रांड एंबेसडर पद से हटा दिया।

कैबिनेट मंत्री ने तर्क दिया था कि स्वच्छता एम्बेसडर ऐसे व्यक्ति को बनाना चाहिए जिसका भोपाल की स्वच्छता में योगदान हो और वह यहां की संस्कृति के बारे में परिचित हो। इसे लेकर एक्टर ने कहा है कि “मंत्रीजी को नगर निगम को पत्र लिखने से पहले भोपाल में मेरी जड़ों के बारे में जानना चाहिए था। पता नहीं उन्होंने ऐसा क्यों किया। मैं उनसे कभी नहीं मिला।“

250 से ज्यादा फिल्मों में एक्टिंग कर चुके रज़ा मुराद ने साफ किया है कि उन्हें निगम के पत्र या मंत्री के आरक्षण पर कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन उन्होंने साफ किया है कि उनके बारें में पत्र में लिखी गईं दोनों बातें निराधार थीं। उन्होंने कहा कि उनकी जड़ें भोपाल में हैं उनकी नानी, मां और बहनें सभी भोपाल से ही हैं। एक्टर ने कहा कि उनकी पढ़ाई लिखाई भोपाल में हुई है। 70 साल के एक्टर का कहना है कि वे हमेशा से भोपाल को सबसे स्वच्छ शहर के तौर पर देखना चाहते थे। उन्हें चिंता होती थी जब भोपाल की रैंकिंग 7वें स्थान पर खिसक गई थी। जब नगर निगम ने उन्हें बुलावा भेजा तो वे खुश थे कि उन्हें शहर में स्वच्छता अभियान का हिस्सा बनने और शहर को इंदौर की तरह स्वच्छ बनाने में अपना योगदान देने का मौका मिलेगा।

और पढ़ें: रज़ा मुराद को ब्रांड एम्बेसडर बनाना नहीं आया शिवराज सरकार को रास, मंत्रालय ने निरस्त किये आदेश

एक मीडिया संस्थान से बात करते हुए रज़ा मुराद ने कहा है कि "यह कहते हुए अच्छा नहीं लगता लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि मैं अपने खर्चे पर भोपाल आया। एयर टिकट और भोपाल में रहने का खर्चा उठाया। भोपाल में स्वच्छता अभियान में भाग लिया, लोगों को सफाई के लिए प्रेरित करने की कोशिश की। यहां तक ​​कि लोगों को सूखा और गीला कचरा अलग-अलग रखने के लिए डस्टबिन भी बांटे। भोपाल नगर निगम आयुक्त केवी चौधरी कोलासानी का कहना है कि एक्टर रजा मुराद से स्वच्छता का ब्रांड एंबेसडर बनने का अनुरोध किया गया था। वे बीएमसी द्वारा चुने गए 80 ब्रांड एंबेसडर में से एक थे। बीएमसी आयुक्त ने भी साफ किया है कि स्वच्छता ब्रांड एंबेसडर के रूप में अपनी भूमिका के बदले एक्टर ने किसी का कोई औपचारिक पत्र या मौद्रिक लाभ की पेशकश नहीं की।