किसान आंदोलन को आज एक साल पूरा, 29 नवंबर को ट्रैक्टर लेकर संसद पहुंचेंगे किसान

ट्रैक्टर रैली को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत बोले- यह जश्न के लिए ट्रैक्टर रैली, किसान कोई दंगा नहीं करेंगे, 29 को ही शुरू होगा संसद का शीतकालीन सत्र

Updated: Nov 26, 2021, 12:26 PM IST

किसान आंदोलन को आज एक साल पूरा, 29 नवंबर को ट्रैक्टर लेकर संसद पहुंचेंगे किसान

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को आज एक साल पूरे हो गए हैं। हालांकि एक साल पहले शुरू हुआ यह आंदोलन आज भी उसी जोश के साथ जारी है। केंद्र सरकार कृषि कानूनों को रद्द करने का ऐलान कर चुकी है बावजूद इसके किसान अपनी अन्य मांगों को लेकर डटे हुए हैं। इसी बीच 29 नवंबर से संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है और इस मौके पर किसानों ने ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है।

देशभर के किसान 29 नवंबर को संसद तक ट्रैक्टर मार्च निकालने की तैयारियों में जुटे हैं। इसके लिए पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश व अन्य राज्यों के  किसान ट्रैक्टर लेकर दिल्ली के लिए रवाना हो रहे हैं। दिल्ली कूच कर रहे किसानों का हुजूम को देखते हुए  प्रशासन ने भी सख्ती का इंतजाम किया है। उधर  किसान भी पूरी तैयारी के साथ आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: PM मोदी और सिंधिया हाथ में गंगाजल लेकर कहें कि वे जेवर एयरपोर्ट को नहीं बेचेंगे: कांग्रेस

किसान आंदोलन के एक साल पूरा होने पर आज भी दिल्ली के बॉर्डर्स पर भारी संख्या में किसानों का जमावड़ा है। किसान बीते एक साल के दौरान आंदोलन में आए उतार और चढ़ाव से लेकर कठिन परिस्थितियों को याद कर रहे हैं। साथ ही एक साल पूरा होने के बाद संघर्ष के अपने साथियों को बधाई दे रहे हैं। किसानों का जोश देखकर साफ है कि वे आंदोलन खत्म करने के मूड में नहीं हैं।

ट्रैक्टर रैली को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि, 'ट्रैक्टर रैली हमारे एक साल के संघर्ष का सेलिब्रेशन होगा। हम 29 को खुशी जाहिर करेंगे, अपने कठिन संघर्ष का जश्न मनाएंगे। किसान कोई दंगा नही करेंगे। एक साल से किसान सड़कों पर बैठे हैं और सरकार चाहती है कि हम ऐसे ही बिना मांगें पूरी किए सभी लोग घर चले जाएं। यह संभव नहीं है। यह प्रदर्शन सिर्फ देश में नहीं बल्कि विदेशों में भी होगा।'

यह भी पढ़ें: हर मोर्चे पर फेल रही है मोदी सरकार, BJP सांसद ने रिपोर्ट कार्ड जारी कर अपनी ही सरकार को घेरा

गांवों से दिल्ली की ओर जा रहे किसान ठंड से बचने के लिए भी पुख्‍ता इंतजाम के साथ निकल रहे हैं। दिल्ली जाने वाले रास्तों में देखा जा रहा है कि किसानों ने ठंड से बचाव के लिए अपनी ट्रॉली को बाहर से पूरी तरह ढक रखा है। ट्रॉली के अंदर पराली बिछे हुए हैं और उसके ऊपर चादर ताकि ट्रॉली के ठंड से बचा जा सके। ट्रैक्टर रैली को लेकर किसान नेता कल बैठक करेंगे इसके बाद सभी जानकारियां दी जाएगी।