Jammu Kashmir: महबूबा मुफ्ती ने कहा देश संविधान से चलेगा, बीजेपी के घोषणापत्र से नहीं

Mehbooba Mufti: रिहाई के बाद पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलीं महबूबा, बीजेपी ने संविधान की पवित्रता को ठेस पहुंचाई, संविधान को पार्टी घोषणा पत्र के हिसाब से बदलने की कोशिश हो रही है

Updated: Oct 23, 2020, 08:13 PM IST

Jammu Kashmir: महबूबा मुफ्ती ने कहा देश संविधान से चलेगा, बीजेपी के घोषणापत्र से नहीं
Photo Courtesy: Kashmir Life

श्रीनगर। पीडीपी चीफ और जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर तीखा हमला बोला है। करीब 14 महीने की नजरबंदी से रिहा होने के बाद अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में महबूबा मुफ्ती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बिहार में चुनावी रैली को लेकर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि देश बीजेपी के घोषणा पत्र पर नहीं, संविधान पर चलेगा।

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि बीजेपी ने संविधान की पवित्रता और सर्वोच्चता को ठेस पहुंचाई है। बीजेपी संविधान को अपनी पार्टी के घोषणा पत्र के हिसाब से बदलने की कोशिश कर रही है। कश्मीर मुद्दे को उठाते हुए उन्होंने कहा कि जो यह सोचते हैं कि हम अनुच्छेद-370 भूल गए हैं वो गलतफहमी में जी रहे हैं। हमारी लड़ाई अनुच्छेद-370 की बहाली तक सीमित नहीं है, बल्कि कश्मीर मुद्दे के स्थायी समाधान के लिए भी है।

मुफ्ती ने प्रेस से बात करने के दौरान जम्मू-कश्मीर का झंडा अपने सामने रखा था, जिसकी तरफ इशारा करते हुए उन्होंने कहा- 'मेरा झंडा ये है और जम्मू कश्मीर का झंडा वापस आएगा तब हम तिरंगा भी फहराएंगे। जब तक हमें अपना झंडा वापस नहीं मिलता तब तक हम कोई झंडा नहीं फहराएंगे। हमारा झंडा ही तिरंगे के साथ हमारे संबंध को स्थापित करता है।

आपको बता दें, सरकार ने जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को सार्वजनिक सुरक्षा कानून (पीएसए) के तहत 14 महीने तक नज़रबंद रखने के बाद इसी साल 13 अक्टूबर को रिहा किया। महबूबा मुफ्ती की रिहाई तब की गई, जब दो दिन बाद ही नज़रबंदी के खिलाफ उनकी बेटी इल्तिजा मुफ़्ती की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी थी।