टीएमसी सांसद शिशिर अधिकारी बीजेपी में शामिल, अमित शाह के मंच से बोले, जय सियाराम, जय भारत

शिशिर अधिकारी ने पूर्वी मेदिनापुर की रैली में बीजेपी का दामन थामने के बाद कहा, मैं ही दीदी का हाथ पकड़कर उन्हें नंदीग्राम लाया था, अब उन्हें यहाँ आने के लिए अधिकारी परिवार की इजाज़त लेनी होगी

Updated: Mar 21, 2021, 03:57 PM IST

टीएमसी सांसद शिशिर अधिकारी बीजेपी में शामिल, अमित शाह के मंच से बोले, जय सियाराम, जय भारत
Photo Courtesy: ABP News

कोलकाता। गृह मंत्री अमित शाह की पूर्वी मेदिनपुर के एगरा में आयोजित एक रैली के दौरान टीएमसी सांसद शिशिर अधिकारी बीजेपी में शामिल हो गए। शिशिर अधिकारी शुभेंदु अधिकारी के पिता हैं। शुभेंदु नंदीग्राम से ममता बनर्जी के खिलाफ विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। शिशिर अधिकारी ने बीजेपी में शामिल होने के बाद अमित शाह के मंच से कहा, "हम आपके साथ हैं, हमारा परिवार आपके साथ है। जय सिया राम, जय भारत।"

दिलचस्प बात यह है कि ममता बनर्जी समेत कई टीएमसी नेता बीजेपी के जय श्रीराम के नारे पर एतराज करने के बारे में पूछे जाने पर कहते रहे हैं कि हमारा नारा तो जय सियाराम है। जिसमें सीता माता का नाम भी शामिल है। बीजेपी वाले सीता मां को हटाकर जय श्रीराम का नारा लगाते हैं। लेकिन आज शिशिर अधिकारी ने अमित शाह के मंच से वही नारा लगाया जो टीएमसी कहती रही है। बीजेपी के नेता आम तौर पर जय श्रीराम, वंदे मातरम बोलते हैं, जबकि शिशिर अधिकारी ने जय सियाराम के साथ जय भारत का नारा लगाया। 

यह भी पढ़ेंबंगाल बीजेपी में टिकट बँटवारे पर घमासान, कई जगहों पर ग़ुस्साए कार्यकर्ताओं ने तोड़फोड़ की

हालांकि रैली में बीजेपी का दामन थामते ही शिशिर अधिकारी ने ममता बनर्जी के खिलाफ आक्रमक बयानबाजी शुरू कर दी। शिशिर अधिकारी ने कहा कि नंदीग्राम से मेरा ही बेटा जीतेगा। ममता बनर्जी को पूर्वी मेदनीपुर और नंदीग्राम आने से पहले अधिकारी परिवार से इजाजत लेनी पड़ेगी। शिशिर अधिकारी ने कहा कि मैं ही ममता बनर्जी को नंदीग्राम लेकर आया था। आज वही ममता मुझे और मेरे बेटे को गद्दार कह रही हैं। अधिकारी ने एक हिंदी न्यूज चैनल से कहा कि मैं 62 वर्षों से सक्रिय राजनीति में हूं। अधिकारी ने खुद को हिन्दू बताते हुए कहा कि बिना केंद्र के सहयोग से बंगाल का विकास नहीं हो सकता। 

यह भी पढ़ेंशुभेन्दु के कार्यक्रम में गोली मारो के नारे पर BJP नेताओं को गिरफ्तार करने वाले IG को TMC ने बनाया उम्मीदवार

उधर अमित शाह भी अपने भाषण के दौरान ममता पर हमलावर दिखे। अमित शाह ने कहा कि दीदी ने मां, माटी और मानुष का नारा दिया था। उसका क्या हुआ? शाह ने कहा कि बंगाल में हमारे 130 कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। अमित शाह ने कहा कि टीएमसी के गुंडे बस 2 मई तक का इंतज़ार करें। नतीजे आने के बाद इन्हें नहीं बख्शा जाएगा। अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी बंगाल को सोनार बांग्ला बनाना चाहते हैं, जबकि ममता बनर्जी सिर्फ अपने भतीजे को सीएम बनाना चाहती हैं।

यह देखना भी दिलचस्प है कि अमित शाह और दूसरे बीजेपी नेता अपने हर भाषण में भतीजे का नाम लेकर ममता बनर्जी पर परिवारवाद का आरोप लगाते हैं। जबकि शिशिर अधिकारी के साथ-साथ उनके तीन बेटे शुभेंदु अधिकारी, सौमेंदु अधिकारी और दिब्येंदु अधिकारी टीएमसी में सांसद, मंत्री, विधायक जैसे अहम पदों पर रहे हैं। दिब्येंदु अब भी टीएमसी सांसद हैं, जबकि परिवार के बाकी तीनों सदस्य बीजेपी में आ चुके हैं। दिब्येंदु ने भी बीजेपी में जाने की संभावना से इंकार नहीं किया है। ऐसे में सवाल यह है कि क्या अधिकारी परिवार का टीएमसी में जबरदस्त दबदबा परिवारवाद नहीं रहा है? और क्या उनके बीजेपी में शामिल होने से यह परिवारवाद खत्म हो जाएगा?