छत्तीसगढ़ में कृष्ण कुंज बगीचा बनाने की तैयारी, सभी कलेक्टरों को भूमि आवंटित करने का मिला निर्देश

इस दौरान बड़े पैमाने पर बरगद, पीपल, नीम, कदम्ब और सांस्कृतिक महत्व वाले जीवनोपयोगी ऑक्सीजन देने वाले वृक्षों का रोपण किया जाएगा

Updated: May 09, 2022, 06:59 PM IST

छत्तीसगढ़ में कृष्ण कुंज बगीचा बनाने की तैयारी, सभी कलेक्टरों को भूमि आवंटित करने का मिला निर्देश
Courtesy: Freepress journal

रायपुर। छत्तीसगढ़ में भागवान श्री कृष्ण के नाम पर बगीचा बनाने की तैयारी की जा रही है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसकी घोषणा की है। इसके तहत हर शहर के बीच में बगीचा बनाया जाएगा। बगीचे का नाम कृष्ण कुंज रखा गया है। सीएम ने कहा कि कृष्ण जन्माष्टमी के दिन नगरीय क्षेत्रों में वृक्षारोपण कर कृष्ण कुंज बनाए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: MP में कुपोषित हैं 10 लाख से ज्यादा बच्चे, दिग्विजय सिंह ने सीएम शिवराज को लिखा पत्र  

सीएम ने सिलसिलेवार दो ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है। उन्होंने लिखा कि 'आप सभी को बताना चाहूँगा कि आने वाली श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन नगरीय क्षेत्रों में वृक्षारोपण कर कृष्ण कुंज बनाए जाएँगे। इसके लिए सभी कलेक्टरों को नगरीय क्षेत्रों में वन विभाग को न्यूनतम एक एकड़ भूमि का आवंटन करने के दिए निर्देश दिए हैं।

 

उन्होंने कहा कि 'इस दौरान बड़े पैमाने पर बरगद, पीपल, नीम, कदम्ब और सांस्कृतिक महत्व वाले जीवनोपयोगी ऑक्सीजन देने वाले वृक्षों का रोपण किया जाएगा। इन वृक्षारोपण स्थल का नाम कृष्ण कुंज होगा।' सीएम ने गौमूत्र, गोबर खरीदी, राम वनगमन पथ,  मानस प्रतियोगिता आदि के बाद कृष्ण कुंज बनाने की बात कही है। 

यह भी पढ़ें: श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने दिया इस्तीफा, अंतरिम सरकार बनाने का था दबाव

वहीं आज मुख्यमंत्री बघेल ने पत्रकार भवन बनाने की घोषणा भी की है। उन्होंने कहा कि 'सूरजपुर में पत्रकार भवन बनाया जाएगा, जिसके लिए 25 लाख रुपए की राशि की घोषणा की है। जिला कलेक्टर को भूमि चिन्हांकित करने के निर्देश दिए हैं।'