फ्रंटलाइन वर्कर्स पर कोरोना का कहर, जांजगीर जिला अस्पताल के 15 डॉक्टर समेत 43 कर्मचारी पॉजिटिव

कवर्धा नर्सिंग कॉलेज के 12 छात्रों में मिला संक्रमण, कोंडागांव नवोदय विद्यालय में एक साथ 17 छात्रों को कोरोना, प्रशासन ने जारी किए सख्ती के आदेश

Updated: Jan 14, 2022, 06:58 PM IST

फ्रंटलाइन वर्कर्स पर कोरोना का कहर, जांजगीर जिला अस्पताल के 15 डॉक्टर समेत 43 कर्मचारी पॉजिटिव
Photo Courtesy: times of India

रायपुर। छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्यकर्मी लगातार कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। विभिन्न अस्पतालों और नर्सिंग कॉलेजों में कोरोना कहर बनकर टूटा है। कवर्धा जिले में नर्सिंग कॉलेज के दर्जनभर छात्र कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। एक साथ इतने छात्रों के संक्रमित होने से हड़कंप मच गया है। वहीं कोंडागांव नवोदय विद्यालय के 17 छात्र भी पॉजिटिव आए हैं। जांजगीर जिला अस्पताल में 15 डॉक्टर समेत 43 स्टाफ संक्रमित हो चुके हैं। ये डाक्टर्स मरीजों के संपर्क में आए थे जिसके बाद इनकी मुश्किलें बढ़ गई हैं।

और पढ़ें: गठिया की दवा से होगा कोरोना का इलाज, WHO ने दो नए उपचारों को मंजूरी दी

अस्पताल में डाक्टर्स की कमी हो गई हैं। सामान्य और कोरोना मरीजों को भी इलाज में परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। गुरुवार को राज्य में 7 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई थी। बीते 24 घंटे में 6 हजार से ज्यादा मरीज मिले थे। कोरोना की तीसरी लहर में रोजाना वर्तमान आंकड़ो के तीन गुना मरीज मिलने की आशंका जताई जा रही है। रायपुर अब भी कोरोना हॉटस्पॉट बना हुआ है। छत्तीसगढ़ में पॉजिटिव रेट 9.51 प्रतिशत पहुंच गया है। बढ़ते मामलों के मद्देनजर रायपुर में बिना मास्क घूमने वालों पर 100 रुपए का जुर्माना लगाने के आदेश जारी कर दिया गया है।

और पढ़ें: इतिहास रचने के करीब जारा रदरफोर्ड, सोलो फ्लाय कर नापी दुनिया, 52 देशों का किया सफर

 बढ़ते मामलों के मद्देनजर रायपुर में बिना मास्क घूमने वालों पर 100 रुपए का जुर्माना लगाने के आदेश जारी कर दिया गया है। छत्तीसगढ़ में हल्के लक्षण वाले मरीजों को होम आइसोलेशन में रहकर इलाज दिया जा रहा है। अकेले रायपुर में ही 4 हजार 445 लोग ठीक होने के बाद होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किए गए। अब तक 80 हजार से अधिक मरीज होम आइसोलेशन में रहकर ठीक हो चुके हैं।