पूर्व MLA युद्धवीर सिंह जूदेव का निधन, जशपुर राजपरिवार में शोक की लहर

पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. दिलीप सिंह जूदेव के बेटे युद्धवीर सिंह जूदेव का लंबी बीमारी के बाद निधन, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पूर्व सीएम रमन सिंह समेत कई दिग्गजों ने जताया शोक

Updated: Sep 20, 2021, 12:14 PM IST

पूर्व MLA युद्धवीर सिंह जूदेव का निधन, जशपुर राजपरिवार में शोक की लहर
Photo Courtesy: social media

रायपुर। जशपुर राजपरिवार के सदस्य युद्धवीर सिंह जूदेव का लंबी बीमारी की वजह से निधन हो गया। 37 वर्षीय बीजेपी नेता ने बैंगलुरु के निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली। युद्धवीर सिंह लिवर की बीमारी से ग्रस्त थे। वे एक महीने से बैंगलुरू में इलाज करवा रहे थे। सोमवार तड़के करीब 4 बजे उन्होंने आखिरी सांस ली। पहले उन्हें इलाज के लिए दिल्ली रेफर किया गया था। वहां से वे बेंगलुरु के एक अस्पताल में वेंटीलेटर पर थे। बताया जा रहा है कि उनका लीवर ट्रांसप्लांट किया जाना था, लेकिन उसके पहले ही उनका निधन हो गया।

वे पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. दिलीप सिंह जूदेव के बेटे थे। लोग उन्हें प्यार से छोटू बाबा कहकर पुकारते थे। युद्धवीर सिंह बीजेपी के टिकट पर चंद्रपुर से दो बार विधायक चुने गए थे। उन्होंने राजनीतिक जीवन की शुरूआत जिला पंचायत जशपुर के उपाध्यक्ष के तौर पर की थी। चंद्रपुर से दो बार के विधायक जूदेव को बीजेपी के कार्यकाल में संसदीय सचिव और छग बेवरेजेज कारपोरेशन के अध्यक्ष का पद दिया गया था। पिता की ही तरह युद्धवीर सिंह जूदेव भी जनप्रिय नेता रहे हैं। वे सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते थे। वे अपनी पोस्टों को लेकर भी चर्चा में रहे हैं।

जूदेव की पोस्ट अक्सर चर्चा का विषय बन जाती थी, साल 2018 में झीरमघाटी कांड और कांग्रेस नेता स्व. नंदकुमार पटेल पर की गई एक पोस्ट खूब वायरल हुई थी। जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर झीरमघाटी कांड नहीं होता तो स्व. नंदकुमार पटेल आज मुख्यमंत्री होत। युद्धवीर सिंह की उस पोस्ट से राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का दौर शुरू हो गया था।

प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव के निधन शोक जताया है। उन्होंने दिवंगत आत्मा की शांति की प्रार्थना की है। उन्होंने ट्वीट मे लिखा है कि ईश्वर उनके परिजनों को दुःख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

 

वहीं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ने भी बीजेपी नेता के निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने लिखा है कि वे अपनी साथी युद्धवीर सिंह जूदेव के निधन की खबर से स्तब्ध हैं, बेहद कम उम्र में  उनका निधन सभी के लिए एक बड़ी क्षति है। पूर्व सांसद रणविजय सिंह जूदेव और सांसद गोमती साय ने भी श्रद्धांजलि दी है। उनका कहना है कि बीजेपी ने एक युवा नेतृत्व खो दिया।