फिल्म राग- द म्यूजिक ऑफ लाइफ में नजर आई बुंदेलखंड के बेड़िया समुदाय की लड़कियों की दास्तां

सरोज खान के निधन के बाद रिलीज हुई उनकी कोरियोग्राफ की गई फिल्म राग- द म्यूजिक ऑफ लाइफ, भोपाल के राइटर ने लिखी है कहानी, बुंदेलखंड के बेडिया समुदाय की कुप्रथा को समाज के सामने लाने की कोशिश

Updated: Mar 27, 2021, 06:29 PM IST

फिल्म राग- द म्यूजिक ऑफ लाइफ में नजर आई बुंदेलखंड के बेड़िया समुदाय की लड़कियों की दास्तां
Photo Courtesy: twitter

भोपाल के फिल्म राइटर नजीर कुरैशी की लिखी फिल्म राग- द म्यूजिक ऑफ लाइफ रिलीज हो गई है। इस फिल्म की स्टोरी बुंदेलखंड के बेदिया समुदाय की एक लड़की पर बेस्ड है। फिल्म में दिखाया गया है कि यह समुदाय पारंपरिक रूप से वेश्यावृत्ति और जीविका चलाने के लिए महिलाओं तस्करी पर निर्भर है। जहां बेटी के पैदा होने पर जश्न मनाया जाता है, क्योंकि वह आगे चलकर उनके लिए पैसा कमाने का माध्यम बन जाती है।

फिल्म में बताया गया है कि कैसे कम उम्र में लड़कियों को जबरन देह व्यापार में धकेला जाता है। उन्हें ग्रोथ हार्मोन ऑक्सीटोसिन का इंजेक्शन लगाने के बाद धंधा करने पर मजबूर किया जाता है। इन महिलाओं को कई यौनजनित बीमारियां और ग्राहकों की हिंसा का शिकार होना पड़ता है। जब कोई लड़की इसका विरोध करती है, पढ़ लिखकर आगे बढ़ना चाहती है तो उसे किस तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।  

 फिल्म में राजपाल यादव, राकेश बेदी, सुधा चंद्रन, मोहन जोशी, यशपाल शर्मा, मिलिंद गुणाजी, मनीषा मरजारा जैसे एक्टर्स ने अपनी अदाकारी दिखाई है। फिल्म के प्रोड्यूसर पीयूष मुंधड़ा हैं। फिल्म की रिलीज डेट कई बार सामने आई लेकिन फिल्म रिलीज नहीं हो सकी। अब शुक्रवार को फिल्म रिलीज हुई है। जिसे दर्शकों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला है। इस फिल्म की कोरियोग्राफर सरोज खान हैं। फिल्म के रिलीज के पहले ही उनका निधन हो चुका है। सरोज खान ने ही फिल्म की कोरियोग्राफी के साथ-साथ इसकी स्टोरी, तक फाइनल करने में मदद की थी।

फिल्म में आइटम नंबर्स में सरोज खान की फेवरेट स्टूडेंट्स में से एक हीना पांचाल नजर आई हैं।यह एक सोशल ड्रामा है जिसके जरिए समाज की एक बुराई को दिखाने की कोशिश की गई है।