चीन की 60 फीसदी आबादी को कोरोना होने की आशंका, 20 लाख लोगों की हो सकती है मौत: शीर्ष महामारी विशेषज्ञ

महामारी वैज्ञानिक ने ये भी अनुमान जताया है कि अगले 90 दिनों में चीन के 60 प्रतिशत से अधिक और पृथ्वी की 10 प्रतिशत आबादी के संक्रमित होने और लाखों लोगों की मृत्यु होने की आशंका है।

Updated: Dec 20, 2022, 11:36 AM IST

चीन की 60 फीसदी आबादी को कोरोना होने की आशंका, 20 लाख लोगों की हो सकती है मौत: शीर्ष महामारी विशेषज्ञ

बीजिंग। चीन में कोरोना महामारी का विस्‍फोट देखने को मिल रहा है। अस्‍पतालों के हालात ठीक वैसे ही हो गए हैं जैसे भारत में हुए थे। मरीजों की संख्‍या इतनी ज्‍यादा हो गई है कि उन्‍हें जमीन पर लिटाना पड़ रहा है। वायरस विशेषज्ञों के मुताबिक चीन की करीब 60 प्रतिशत आबादी और धरती की कुल 10 फीसदी आबादी अगले 90 दिनों में संक्रमित हो सकती है। उन्‍होंने कहा कि यह केवल शुरुआत भर है। अनुमान है कि कोरोना संक्रमण से 20 लाख लोगों की मौत हो सकती है। इसके अलावा 80 करोड़ लोग संक्रमित हो सकते हैं।

वायरस विशेषज्ञ एरिक फेइगल के मुताबिक चीन की राजधानी बीजिंग में लगातार लाशों का अंतिम संस्‍कार चल रहा है। मुर्दाघर भरे हुए हैं। लाशों को रखने के लिए रेफ्रिजेरेटर की जरूरत है। 2000 लाशों का अंतिम संस्‍कार किया जाना है। उन्‍होंने कहा कि ऐसा लगता है कि साल 2020 के हालात फिर से आ रहे हैं लेकिन इस बार यह चीन में हो रहा है न कि यूरोप और पश्चिमी देशों में। बताया जा रहा है कि चीन में कोरोना प्रत‍िबंधों में ढील दिए जाने के बाद कोरोना के मामलों में भयानक तरीके से वृद्धि हुई है।

इसकी चपेट में अब चीन की 60 फीसदी आबादी आ सकती है। पूर्वोत्‍तर चीन में अस्‍पतालों में लाशों का अंबार लग गया है लेकिन सरकार उसे छिपाने में जुट गई है। चीन ने सोमवार को कोविड-19 से दो नई मौतों की पुष्टि की। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) द्वारा 3 दिसंबर से सांस की बीमारी से कोई मौत नहीं होने की रिपोर्ट के बाद आधिकारिक तौर पर दो मौतें बताई गई हैं। इसी के साथ रिपोर्टें सामने आई हैं कि श्मशान में आने वाले कोविड-सकारात्मक शवों की संख्या में अचानक वृद्धि हुई है।

चीन का कहना है कि उसकी 90% से ज्यादा आबादी का पूरी तरह से टीकाकरण किया जा चुका है। हालांकि, 80 और उससे ज्यादा उम्र के आधे से भी कम लोगों को टीके की तीन खुराकें मिली हैं। बुजुर्ग लोगों में कोविड के गंभीर लक्षण होने की संभावना ज्यादा होती। इस मौजूदा भयावता का अंदाजा लगाया जा सकता है। बीजिंग में अस्पतालों, अंतिम संस्कार पार्लरों और संबंधित अंतिम संस्कार उद्योग के एक सर्वेक्षण के माध्यम से - मौतों में तेज वृद्धि के कारण अंतिम संस्कार सेवाओं में हाल ही में भयंकर विस्फोट हुआ है।