कनाडा में भीषण गर्मी, पानी को हाफ बॉयल करने जितना तापमान, 200 से अधिक लोगों की मौत

कोरोना संकट के बीच कनाडा में लू और गर्मी का कहर, 49.5 डिग्री तक पहुंचा तापमान, गर्मी से मरने लगे लोग, कनाडा के इतिहास में कभी नहीं देखा गया इतना तापमान

Updated: Jul 01, 2021, 11:00 AM IST

कनाडा में भीषण गर्मी, पानी को हाफ बॉयल करने जितना तापमान, 200 से अधिक लोगों की मौत
Photo Courtesy : India Today

वैंकुवर। कोरोना संकट के बीच कनाडा में अब भीषण गर्मी ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है। कनाडा के इतिहास में अबतक का सबसे ज्यादा 49.5 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है। लू और गर्मी के भीषण थपेड़ों ने कनाडा में आम जनजीवन को त्रस्त कर दिया है। लगातार चार दिनों से पड़ रही गर्मी की वजह से यहां अबतक सैंकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है। 

स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कनाडा का मौजूदा तापमान पानी को हाफ बॉयल करने जितना जा पहुंचा है। पानी 100 डिग्री सेल्सियस पर खौलकर भाप बन जाता है और कनाडा का तापमान 50 डिग्री से 0.5 डिग्री ही कम है। कनाडा की रॉयल कनैडियन माउंटेड पुलिस और सिटी पुलिस डिपार्टमेंट की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक शुक्रवार के बाद से अकेले वैंकुवर शहर में कम से कम 134 लोगों की मौत दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ें: ब्रिटेन के इस बुजुर्ग ने लड़ी कोरोना से सबसे लंबी लड़ाई, 43 बार पॉजिटिव आई रिपोर्ट, 4 बार पत्नी ने अंतिम संस्कार की तैयारी की

वैंकुवर शहर के पुलिस डिपार्टमेंट ने बताया है कि 65 लोगों की अचानक मौत हो गए, इनमें ज्यादातर की मौत की वजह लू ही प्रतीत होती है। वैंकुवर के पुलिस सार्जेंट स्‍टीव एडिसन कहते हैं, 'शहर ने इससे पहले, कभी इस तरह की गर्मी का अनुभव नहीं किया और इसके कारण दर्जनों लोगों की मौत हो रही है। गर्मी को देखते हुए यहां स्कूल और कॉलेज भी बंद कर दिए गए हैं, ताकि छात्र-छात्राएं सुरक्षित रहें और लू के थपेड़ों से बचें। स्थानीय लोगों को भी अत्यधिक आवश्यकता होने पर ही घर से बाहर निकलने के लिए कहा गया है।

देश के वेदर सर्विस के अनुसार, कनाडा ने मंगलवार को लगातार तीसरे दिन नया सर्वकालीन ऊंचा तापमान दर्ज किया। वेदर सर्विस ने बताया कि वेंकूवर से करीब 250 किलोमीटर दूर ब्रिटिश कोलंबिया इलाके में पारा 121 डिग्री फारेनहाइ (49.5 डिग्री सेल्यियस) तक जा पहुंचा। समाचार एजेंसी रायटर्स ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि ब्रिटिश कोलंबिया इलाके में शुक्रवार से सोमवार के बीच कम से कम 233 लोगों की मौत हो गई। चार दिनों की औसत से यह 100 ज्यादा है।

यह भी पढ़ें: गाजीपुर बॉर्डर पर BJP कार्यकर्ताओं ने किसानों के साथ की मारपीट, कई किसान घायल

आमतौर पर कनाडा में तापमान कम ही रहता है और ज्यादातर महीनों में ठंड का मौसम बना रहता है। ऐसे में वहां के लोगों के लिए इतना ज्यादा तापमान बर्दाश्त करना बेहद कठिन है। कनाडा में साल 2021 का यह गर्मी हैरान करने वाला तो है ही साथ में कई तरह की परेशानियां खड़ी करने वाला भी है। तापमान में अचानक हुई इस बढ़ोतरी का मुख्य कारण जलवायु परिवर्तन माना जा रहा है।