धार में खुदाई के दौरान मिली सोने की 200 साल पुरानी गिन्नियां, जांच में जुटी पुरातत्व विभाग की टीम

धार में एक पुराने मकान की खुदाई के दौरान मजदूरों को सोने कि 86 गिन्नियां मिली, उन्होंने इसे आपस में बांट लिया, हालांकि पुलिस को इसकी भनक लग गई, सभी मजदूरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि पुरातत्व विभाग इसकी जांच कर रही है

Updated: Aug 29, 2022, 10:19 PM IST

धार में खुदाई के दौरान मिली सोने की 200 साल पुरानी गिन्नियां, जांच में जुटी पुरातत्व विभाग की टीम

धार। मध्य प्रदेश के धार जिले में एक पुराने घर कि खुदाई के दौरान मजदूरों को सोने की 200 साला पुरानी गिन्नियां मिली। आठ मजदूरों ने करीब 1 करोड़ रुपये मूल्य के इन 86 गिन्नियों को आपस में बांट लिया। हालांकि, इस बात की खबर पुलिस को लग गई और आठों मजदूरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुरातत्व विभाग की टीम अब इसकी जांच में जुटी हुई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक धार शहर के चिटनीस चौक में एक पुराने मकान का मलबा हटाते वक्त मजदूरों को पुरातात्त्विक महत्व का दबा खजाना मिला। मजदूरों ने बिना किसी को इस बात की खबर लगे आपस में बांट लिया। हालांकि, पुलिस को इसकी जानकारी तब लगी जब एक मजदूर ने शराब के नशे में लोगों को पूरा मामला बता दिया। सूचना मिलते ही पुलिस ने आठों मजदूरों को गिरफ्तार कर लिया और उनसे पूछताछ की।

यह भी पढ़ें: भारत जोड़ो यात्रा के लिए सभी राज्यों से मिट्टी-पानी लेकर आएंगे पदयात्री, AICC में मीडिया से मुखातिब हुए दिग्विजय सिंह

पूछताछ के दौरान मजदूरों ने 86 गिन्नियां मिलने की बात कबूली। इसके बाद पुलिस ने उन्हें जब्त कर पुरातत्व विभाग को सौंप दिया। पुरातत्व विभाग की टीम जांच में जुट गई है। शुरुआती जांच में ये गिन्नियां 200 साल पुरानी पाई गई हैं। इनका संबंध जोधपुर रियासत से है। एक गिन्नी करीब 11 ग्राम की है। टीम ने जांच में पाया कि 84 गिन्नियां हैं, बाकी 2 गिन्नी जैसे दिखने वाले सोने के टुकड़े या किसी लॉकेट का हिस्सा हो सकते हैं। ये मुगलकालीन हैं। इस पर आगे रिसर्च की जाएगी।

इंदौर से आई टीम ने जिस जगह गिन्नियां मिलीं, वहां करीब एक डेढ़ घंटे तक खुदाई कराई, लेकिन कुछ नहीं मिला। इसके ठीक सामने भी खोदा गया, यहां टूटे हुए करवे (मिट्‌टी के छोटे घड़े) के कुछ टुकड़ों के अलावा कुछ नहीं मिला। इसके बाद टीम वापस लौट गई। वहीं, एक गिन्नी जिस किसी भी व्यक्ति को एक मजदूर ने बेची है, पुलिस उसका पता लगा रही है।

यह भी पढ़ें: बाढ़ पीड़ितों का हाल जानने पहुंचे जयवर्धन सिंह, बोले- लोग सड़क पर आ गए हैं, सरकार उन्हें घर दे

दरअसल, धार में नालछा दरवाजा इलाके के पास चिटनीस चौक में शिवनारायण राठौड़ का मकान है। ये मकान दो हिस्सों में बना हुआ है। एक हिस्से में परिवार रहता है। दूसरा हिस्सा जर्जर था और इसे तोड़कर नया मकान बनाया जा रहा है। मजदूर पिछले एक महीने से यहां काम कर रहे हैं। मजदूरों को जन्माष्टमी और इसके दो दिन बाद दीवार गिराते समय गिन्नियां मिली थीं। इसे 8 मजदूरों ने आपस में बांट लिया था। इसकी भनक मकान मालिक शिवनारायण तक को नहीं थी। हालांकि, बाद में पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया।