धार से कांग्रेस का आदिवासी न्याय यात्रा शुरू, कारम डैम प्रभावितों की मांगों को लेकर भोपाल तक करेंगे पदयात्रा

आदिवासी विधायक पांचिलाल मेड़ा के नेतृत्व में शुरू हुआ "आदिवासी न्याय यात्रा", वरिष्ठ नेता अरुण यादव और विधायक सचिन यादव भी रहे मौजूद, 2 अक्टूबर को भोपाल पहुंचेगी यात्रा

Updated: Sep 21, 2022, 02:07 PM IST

धार से कांग्रेस का आदिवासी न्याय यात्रा शुरू, कारम डैम प्रभावितों की मांगों को लेकर भोपाल तक करेंगे पदयात्रा

धार। कारम डैम फूटने के बाद क्षेत्र के किसानों को आई दिक्कतों व उचित मुआवजे की मांग को लेकर कांग्रेस ने धार से "आदिवासी न्याय यात्रा" शुरू किया है। आदिवासी विधायक पांचीलाल मेड़ा के नेतृत्व में यह यात्रा बुधवार को कारम डैम से शुरू हुई। इस दौरान वरिष्ठ नेता कांतिलाल भूरिया, पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, विधायक सचिन यादव व सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

विधायक पांचीलाला मेड़ा ने बताया कि उन्होंने क्षेत्र के किसानों और आदिवासियों को न्याय दिलाने के लिए इस यात्रा की शुरुआत की है। हम भोपाल तक पैदल मार्च करेंगे। "आदिवासी न्याय यात्रा" संभवतः दो अक्टूबर को भोपाल पहुंचेगी। गांधी जयंती के मौके पर हम भोपाल में राज्यपाल मंगू भाई पटेल को ज्ञापन सौंपकर उन्हें जनसमस्याओं से अवगत कराएंगे।

यह भी पढ़ें: चीन ने नई दिल्ली के आकार के बराबर की भारतीय जमीन पर कर रखा है कब्जा: राहुल गांधी

मेड़ा ने बताया कि कारम बांध से प्रभावित आदिवासी आज भी जंगलों में रह रहे हैं। उन्हें उचित मुआवजा नहीं मिला। बांध के निर्माण में अनियमितता हुई है। उन्होंने सरकार से आदिवासियों को ही नुकसान की भरपाई करने के साथ फसलों का उचित मुआवजा देने और विस्थापित करने की मांग की है।

इस दौरान कांग्रेस विधायक सचिन यादव ने कहा कि भोपाल में मॉनसून के दौरान जब पांचीलाल मेड़ा ने कारम डैम का मुद्दा उठाना चाहा तो उन्हें बोलने नहीं दिया गया। इतना ही नहीं सदन में उनके साथ अभद्रता और मारपीट की गई। शिवराज सरकार आदिवासी जनप्रतिनिधियों के साथ अभद्रता पर उतर गई है। हम यह बर्दाश्त नहीं करेंगे।