जबलपुर: कोरोना कर्फ्यू में फल बेचने से रोका तो पुलिसकर्मी पर चाकू से हमला, आरोपी फरार

जबलपुर में एक फल विक्रेता ने पुलिसकर्मी पर चाकू से जानलेवा हमला कर दिया। पुलिसकर्मी ने कोविड गाइडलाइन का पालन करने की समझाइश दे रहा था। उसी दौरान घटना को अंजाम दिया। पुलिस आरोपित की तलाश में जुटी है।

Updated: May 28, 2021, 05:53 PM IST

जबलपुर: कोरोना कर्फ्यू में फल बेचने से रोका तो पुलिसकर्मी पर चाकू से हमला, आरोपी फरार
Photo courtesy: aaj tak

जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर में कोरोना गाइड लाइन का पालन कराने के लिए ड्यूटी पर तैनात पुलिस आरक्षक ने फल बेचने वाले को मना किया तो शख्स ने पुलिसकर्मी पर चाकू से जानलेवा हमला कर दिया। बताया जा रहा है पुलिसकर्मी ने लॉकडाउन के समय फल बेचने से मना किया इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ। गुस्से में आकर फल विक्रेता ने चाकू से हमला कर मौके से फरार हो गया। मामला गढ़ा थाना इलाके के आनंद कुंज का बताया जा रहा है। 


वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और घायल आरक्षक को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल भर्ती कराया। हत्या के प्रयास की एफआइआर दर्ज कर गढ़ा पुलिस आरोपित फल विक्रेता की तलाश कर रही है। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा ने गढ़ा थाना पहुंचकर घायल आरक्षक से मुलाकात की। 


गढ़ा थाना प्रभारी राकेश तिवारी ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने के लिए आरक्षक अजय श्रीवास्तव की ड्यूटी गुरुवार को आनंद कुंज में लगाई गई थी। अजय ड्यूटी पर पहुंचे तो वहां शेख अब्दुल हमीद उस्मानी निवासी आनंद कुंज गढ़ा ठेले पर सब्जी बेचते मिला। ठेलेे के चारों ओर ग्राहकों की भीड़ लगी थी। आरक्षक अजय ने उसे समझाइश दी कि वह आम रास्ते पर खड़े होकर नहीं बल्कि मोहल्ले व कॉलोनी में घूमकर सब्जी बेचे। उस्मानी इस बात से नाराज हो गया और बोला कि वह कहीं नहीं जाएगा, जहां मन चाहेगा वहां खड़े होकर सब्जी बेचेगा इसी बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई। और फल विक्रेता ने ठेले पर रखे चाकू निकाल कर हमला कर दिया।

आरोपी के खिलाफ हत्या के प्रयास, धारा 188, कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन, महामारी एक्ट और शासकीय कार्य मे बाधा पहुँचने सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपी की तलाश में जगह जगह छापामारी कर रही है।