सीएम शिवराज की अपील 15 मई तक टाल दें शादियां,ज्यादा जरूरी हो तो केवल 10 लोगों की मौजूदगी में हो कार्यक्रम

सीएम शिवराज बोले विवाह हमारी परंपरा और संस्कार का महत्वपूर्ण भाग है, लेकिन कोरोना के मद्देनजर 15 मई तक स्थगित रखें शादियां, ग्रामीणों से जनता कर्फ्यू का पालन करने की अपील

Updated: Apr 30, 2021, 05:13 PM IST

सीएम शिवराज की अपील 15 मई तक टाल दें शादियां,ज्यादा जरूरी हो तो केवल 10 लोगों की मौजूदगी में हो कार्यक्रम
Photo courtesy: DailyO

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के हाल बेहाल हैं। लॉकडाउन के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने आम जनता से आगामी 15 मई तक शादियां टालने की अपील की है। अगर ऐसा करना संभव ना हो तो केवल 10 लोगों की मौजूदगी में शादी का कार्यक्रम संपन्न करवाया जाए। उन्होंने कहा कि बड़े समारोह में कोरोना पूरे परिवार को सामूहिक रूप से चपेट में ले लेता है। वहीं उन्होंने कहा है कि अगर ज्यादा जरूरी हो तो अधिकतम 10 लोग ही शादी की रस्मों में शामिल हों।

वहीं मुख्यमंत्री शिवराज ने प्रदेश की ग्रामीण जनता से मुखातिब होते हुए कहा कि विवाह हमारी परंपरा है और संस्कार का महत्वपूर्ण भाग है। लेकिन जान है तो जहान है। गौरतलब है कि प्रदेश में 30 अप्रैल तक शादियों में पहले से ही रोक गई हुई थी।

और पढ़ें: मध्यप्रदेश में 1 मई से नहीं शुरू होगा टीकाकरण, वैक्सीन कंपनियों से अब तक नहीं मिले हैं शिवराज सरकार को टीके

मुख्यमंत्री ने कोरोना पर लगाम लगाने के लिए ग्राणीणों से गांवों को बंद करने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने और उस पर जीत हासिल करने के लिए गावों को बांस बल्लियों से सील करें। गांव की सरहद में किसी को प्रवेश नहीं करने दें। गांवों में ही रहें बिना जरूरत गांव घर के बाहर नहीं निकलें। अगर किसी काम से निकलना ही पड़े तो मास्क और दो गज की दूरी का पालन करें। सभी कोरोना गाइड-लाइन का पूरी तरह से फालो करें। उन्होंने कहा कि स्वत स्फूर्त कर्फ्यू है, जनता कर्फ्यू।

और पढ़ें: मध्यप्रदेश सरकार ने पुनः शुरू की कोरोना योद्धा योजना, मिलेगा 50 लाख की सम्मान निधि

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपनी सेहत का खास ख्याल रखने की सलाह दी है। उनका कहना है कि साधारण सर्दी-जुकाम-बुखार आने पर भी लापरवाही न करें, तुरंत जांच करवायें। किल कोरोना अभियान-दो के तहत स्वास्थ्य विभाग की टीमे घर-घर पहुंच रही हैं। कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर होम आइसोलेशन में रहें। अगर घर में संभव न हो, तो गांव के पंचायत भवन, धर्मशाला, आदि में क्वारंटाइन सेंटर बनाकर आइसोलेटे हो रहें। मरीजों के खाने, दवाई का इंतजाम सरकार द्वारा करवाया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 94 हजार से कम होकर 92 हजार 77 रह गई है। बीते 24 घंटे में 13 हजार 363 मरीजों को अस्पतालों से  डिस्चार्ज किया गया है।