दमोह हिजाब केस में सीएम शिवराज की कार्रवाई, गंगा जमुना स्कूल की मान्यता रद्द

हिजाब केस में विवादों में आए मध्य प्रदेश दमोह के प्राइवेट स्कूल गंगा जमुना की मान्यता रद्द रद्द कर दी है। हालांकि शिक्षा विभाग ने इसके पीछे हिजाब नहीं, बल्कि दूसरी कई तरह की खामियों का हवाला दिया हैं।

Updated: Jun 03, 2023, 11:14 AM IST

दमोह हिजाब केस में सीएम शिवराज की कार्रवाई, गंगा जमुना स्कूल की मान्यता रद्द

दमोह। दमोह में कथित हिजाब मामले से सुर्खियों में आये गंगा जमना इंग्लिश मीडियम स्कूल की मान्यता निलंबित की गई है। सयुंक्त संचालक शिक्षा ने आदेश जारी कर स्कूल की मान्यता को सस्पेंड किया है। सीएम शिवराज के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है।

लोक शिक्षण सहायक सागर संभाग के संयुक्त संचालक द्वारा जारी फरमान में लिखा है कि संबंधित स्कूल में किए गए निरीक्षण के दौरान द्वारा मान्यता के नियमों पालन नहीं किया गया। स्कूल में जांच करने पहुंची शिक्षा विभाग की टीम ने जो कमियां देखी, उनकेस्कूल में पुस्तकालय की समुचित व्यवस्था नहीं मिली। साथ ही भौतिक शास्त्र और रसायन शास्त्र की अलग-अलग प्रयोगशाला कक्षों में पुराना फर्नीचर, पुरानी सामग्री रखा होना पाया गया। इस तरह अन्य कई बिंदु भी बताए गए हैं।

सीएम चौहान ने इस फैसले की जानकारी देते हुए ट्वीट किया, "दमोह के एक विद्यालय में अनियमितताएँ पाए जाने पर उसकी मान्यता तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दी गयी। मेरे भांजे-भांजियों के साथ किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी एवं मध्यप्रदेश सरकार ऐसे कृत्यों के विरुद्ध कठोर से कठोर कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है।"

दरअसल, दमोह के गंगा-जमुना स्कूल के एक पोस्टर में छात्राओं को हिजाब पहनाए जाने के आरोप के बाद हिन्दू सगंठन एक्टिव हुए। इसके बाद मामले ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया है। इस मामले में शुरुआती जांच में कलेक्टर मयंक अग्रवाल ने स्कूल को क्लीनचिट दे दी। लेकिन बाद में यह बात सरकार तक पहुंची और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नए सिरे से जांच करने के निर्देश दे दिए।

अब सीएम के सख्त तेवर के बाद दमोह कलेक्टर ने स्कूल पर कार्रवाई करते हुये स्कूल यूनिफॉर्म में हिजाब के बंधन पर रोक लगा दी है। साथ ही कॉलेज का लाइसेंस भी निरस्त कर दिया। इतना ही नहीं, कलेक्टर के निर्देश के बाद अब अल्लामा इकबाल के 'लब पे आती है दुआ' नज्म गाने पर भी रोक रहेगी। अब छात्र प्रातः कालीन प्रार्थना में केवल राष्ट्रगान जन-गण-मन ही गाएंगे।