MP Tigers: शहडोल के तालाब में मिला बाघ का कंकाल

Shahdol: तालाब की रेत में दबा था बाघ का शव, , तस्करों द्वारा करंट लगाकर मारे जाने की आशंका, अंग न निकाल पाने की वजह से रेत में दफनाया

Updated: Nov 16, 2020, 11:29 AM IST

MP Tigers: शहडोल के तालाब में मिला बाघ का कंकाल
Photo Courtesy: HT

शहडोल। मध्यप्रदेश के शहडोल जिले में एक बाघ का कंकाल बरामद हुआ है। पहली नज़र में ऐसा लगता है कि यह कंकाल काफी पुराना है। आशंका जताई जा रही है कि पशु तस्करों ने करंट लगाकर इस बाघ की हत्या की होगी। फिलहाल बाघ के कंकाल का पोस्टमार्टम कर दिया गया है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक बाघ का यह कंकाल बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के पनपथा बफर जोन की सीमा से लगे शहडोल जिले के एक गांव में रविवार को मिला है। गश्ती दल को यह कंकाल तालाब की रेत में दबा हुआ मिला।कंकाल अधिक गहराई में दफन नहीं हुआ था, इसलिए ऊपर की रेत हटने पर दिखाई दे गया।  आशंका जताई जा रही है कि शिकारियों ने बाघ को करंट लगाकर मारा होगा और किन्हीं कारणों से वे उसके अंग नहीं निकाल पाए होंगे।

सीमा को लेकर हुआ विवाद

जानकारी के मुताबिक रिजर्व फॉरेस्ट 177 का वह हिस्सा जहां बाघ का कंकाल पाया गया है, शहडोल जिले की सीमा का है। वन विभाग की सीमा के तहत यह क्षेत्र बांधगढ़ टाइगर रिजर्व के पनपथा बफर जोन का हिस्सा है। हालांकि बांधवगढ़ प्रबंधन यह मानने से इनकार कर दिया है कि बाघ उनके टाइगर रिजर्व का है। फिलहाल बाघ के शव का पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार कर दिया गया है और मामले की तफ्तीश जारी है।