भोपाल में पढ़ने आए किसान के बेटे ने करंट लगाकर की आत्महत्या, आर्थिक तंगी के कारण सुसाइड की आशंका

छात्र कुलदीप वर्मा ने अपने दोनों हाथों को छिले हुए इलेक्ट्रिक वायर से बांधा, फिर प्लग में तार लगाकर झाडू से स्विच ऑन कर दिया। करंट लगने से छटपटाते हुए उसकी मौत हो गई।

Updated: Aug 28, 2022, 04:23 PM IST

भोपाल में पढ़ने आए किसान के बेटे ने करंट लगाकर की आत्महत्या, आर्थिक तंगी के कारण सुसाइड की आशंका

भोपाल। मध्य प्रदेश कि राजधानी भोपाल में एक छात्र के सुसाइड का मामला सामने आया है। छात्र ने करंट लगाकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या के पीछे के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। हालांकि, आशंका है कि आर्थिक तंगी के कारण छात्र यह कदम उठाने को मजबूर हुआ। 

मामला रातीबड़ थाना अंतर्गत नीलबड़ का है। यहां कुलदीप वर्मा नामक 20 वर्षीय युवक किराए के कमरे में रहता था। कुलदीप ने इसी साल बीएससी की पढ़ाई पूरी की थी। करीब महिनेभर पहले ही वह आगे की पढ़ाई के लिए अपने गांव से भोपाल आया था। उसके पिता गजराज सिंह सीहोर के बिलकिसगंज में रहते हैं और एक छोटे किसान हैं।

गजराज सिंह के मुताबिक उनके बेटे ने वीएनएस कॉलेज में बी.फार्मा के एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। वह कृष्णा कॉलोनी नीलबड़ में किराये से रहता था और सोमवार को वह एडमिशन लेने वाला था। एडमिशन के लिए उसने घर से 34 हजार रुपए भी मंगाए थे। जिसमें 10 हजार रुपए उसने रजिस्ट्रेशन के लिए जमा कर दिए थे। लेकिन शनिवार शाम अचानक उसने आत्महत्या कर ली।

यह भी पढ़ें: पूर्व मंत्री रेप केस में फंसाने की धमकी देते हैं, थाना प्रभारी ने एंदल सिंह कंसाना पर लगाए गंभीर आरोप

उसने आत्महत्या के लिए भी बेहद अजीबोगरीब तरीका अपनाया। उसने पहले अपने दोनों हाथों को छिले हुए इलेक्ट्रिक वायर से बांधा, फिर प्लग में तार लगाकर झाडू से स्विच ऑन कर दिया। और इस तरह करंट लगने से छटपटाते हुए उसकी मौत हो गई। मौके से कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है।

कुलदीप के रिश्तेदार राज कुमार वर्मा ने बताया कि वह न्यू मैक्स अस्पताल के मेडिकल स्टोर पर पार्ट टाइम जॉब भी कर रहा था। उसने मेडिकल स्टोर के संचालक को मैसेज कर शनिवार को छुट्‌टी ले ली थी। उसने मैसेज किया था कि उसे घर जाना है। इसलिए शनिवार को नहीं आएगा। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में मार्ग कायम कर छानबीन शुरू कर दी है। कुलदीप के मोबाइल फोन की भी जांच की जा रही है।