इंस्टाग्राम पर भिड़े बच्चे तो चौराहे पर आ गए दादा-दादी, कांग्रेस MLA के मां-बाप पर FIR

दादा-दादी तक पहुंचा सोशल मीडिया पर हुए बच्चों के विवाद का मामला, सड़कों पर दोनों पक्ष के दादा-दादी में हुई भिड़ंत, मध्य प्रदेश के रतलाम का मामला

Updated: Nov 01, 2021, 08:05 AM IST

इंस्टाग्राम पर भिड़े बच्चे तो चौराहे पर आ गए दादा-दादी, कांग्रेस MLA के मां-बाप पर FIR
Photo Courtesy : Bhaskar

रतलाम। सोशल मीडिया 21वीं सदी के लोगों के जीवन का प्रमुख हिस्सा बन गया है। लेकिन सोशल मीडिया की बात को लेकर दादा-दादी के भिड़ने की घटना पहली बार सुनने को मिली है। मध्य प्रदेश के रतलाम में एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां इंस्टाग्राम पर बच्चों के बीच हुए विवाद को लेकर दोनों पक्षों के दादा दादी भिड़ गए। मामला इतना बढ़ गया कि धमकी, मारपीट और फिर पुलिस थाने तक बात पहुंच गयी।

असल में आलोट के स्थानीय कांग्रेस विधायक मनोज चावला के बेटे मानस चावला ने इंस्टाग्राम पर एक तस्वीर साझा की थी। इस तस्वीर पर पड़ोस के ही एक लड़के अभिषेक पहाड़िया ने कुछ कमेंट कर दिया। इस कमेंट को लेकर दोनों लड़कों के बीच बहसबाजी हुई और वे एक दूसरे के साथ गाली-गलौच करने लगे।

यह भी पढ़ें: आत्महत्या के मामले में तीसरे स्थान पर है MP, 2020 में 14 हजार से ज्यादा लोगों ने की खुदकुशी

मानस चावला ने यह बात जाकर अपने बुजुर्ग दादा-दादी को बताई तो वे भड़क गए। इसके बाद शनिवार दोपहर उसके दादा-दादी कमल चावला और गिरजा बाई जो स्थानीय विधायक के मां बाप हैं, वे कमेंट करने वाले अभिषेक पाहड़िया की दुकान पर पहुंच गए और यहां अभिषेक की दादी शांति बाई और पिता दुर्गाशंकर से बहस शुरू हुई तो मामला सोशल मीडिया के वॉल से निकलकर चौराहे तक पहुंच गया। अब दो बुजुर्ग अपने अपने पोते को बचाने के लिे बीच बाज़ार भिड गए। मामला हाथापाई तक पहुंच गया तो विवाद में पुलिस को घसीटना पड़ा।

इंस्टाग्राम कमेंट पर तीन पीढ़ियां आपसे में उलझ गईं। बच्चों की लड़ाई में बुजुर्गों का झगड़ाथाने पहुंचा तो अभिषेक पाहड़िया के घरवालों ने विधायक के मां-बाप पर मारपीट और धमकाने का आरोप लगा दिया। पुलिस ने उनकी शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर ली।

यह भी पढ़ें: MP में दिवाली पर ब्लैक आउट का खतरा, कल से हड़ताल पर जाएंगे 70 हजार कर्मचारी

उधर मानस चावला के घरवालों की शिकायत पर पुलिस ने कमेंट करने वाले युवक अभिषेक पाहड़िया के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली। पुलिस अब जांच में जुटी है कि दोषी कौन है। अभिषेक के घरवालों ने आरोप लगाया है कि कमल चावला और गिरजा बाई का बेटा विधायक है इसलिए वे रसूख का इस्तेमाल कर पुलिस पर दबाव बना रहे हैं। हालांकि, स्थानीय लोगों के मुताबिक विधायक मनोज चावला ने इस मामले से दूरी बना रखी है।