बड़ा हादसा टला, चलती ट्रेन में लगी आग, जंगल में रोकनी पड़ी विशाखापट्‌टनम-हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस

विशाखापट्टनम से निजामुद्दीन जा रही ट्रेन के B2 कोच में लगी आग, आग से किसी के हताहत होने की खबर नहीं, यात्रियों ने स्विच बोर्ड से आग की लपटें निकलते देख चेन खींचकर रोकी ट्रेन, शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका

Updated: Jun 22, 2021, 04:17 PM IST

बड़ा हादसा टला, चलती ट्रेन में लगी आग, जंगल में रोकनी पड़ी विशाखापट्‌टनम-हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस
Photo Courtesy: punjab kesari

ग्वालियर। विशाखापट्‌टनम-हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस की एसी बोगी में आग लगने का मामला सामने आया है। हादसा मंगलवार दोपहर करीब 1.30 बजे ग्वालियर से झांसी रेलवे स्टेशन के बीच हुआ। ट्रेन के एसी बोगी B2 में आग की लपटें देख यात्रियों ने ट्रेन की चेन खींच दी, और यात्री सामान समेत बाहर आ गए। दरअसल इस बोगी में महज चार लोग सवार थे। आग लगते देख यात्रियों ने ट्रेन को ग्वालियर-झांसी के बीच जंगल में ही चेन खींचकर रोक दिया। जंगल में ट्रेन रुकते रेलवे स्टाफ और GRPF मौके पर पहुंची। रेलवे द्वारा आग पर काबू पा लिया गया है। बताया जा रहा है कि मंगलवार दोपहर इस घटना के बाद डबरा स्टेशन पर इस एसी कोच को अलग कर यात्रियों को दूसरे डिब्बे में सवार किया गया और फिर ट्रेन रवाना हो सकी।

जिस वक्त ट्रेन में आग लगी उस वक्त उसकी रफ्तार करीब 110 किलोमीटर प्रति घंटा थी। यात्रियों ने तेजी से चेन पुलिंग कर दी और ट्रेन को रोक दिया जिससे आग पर समय रहते काबू कर लिया गया। दिन का वक्त होने की वजह से यात्री जाग रहे थे, वहीं कम लोग होने की वजह से ट्रेन में अफरा तफरी नहीं मची जिससे किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है। आग लगने की वजह से ट्रेन को करीब एक घंटे तक जंगल में रोकना पड़ा। जिसके बाद आग पर काबू पाया जा सका।

 इस आग से बोगी को नुकसान हुआ है लेकिन किसी तरह की जनहानी और बड़े माली नुकसान की खबर नहीं है। शार्ट सर्किट से ट्रेन आग लगने की आंशका है। फिलहाल मामले की जांच जारी है।