MP कांग्रेस की अहम बैठक आज, प्रकोष्ठों के कामकाज की होगी समीक्षा, संगठनात्मक सर्जरी भी संभव

कमलनाथ आज कांग्रेस के सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्षों से संगठनों और प्रकोष्ठों के कामकाज की समीक्षा करेंगे। माना जा रहा है कि निष्क्रिय पदाधिकारियों की संगठन से छुट्‌टी भी हो सकती है।

Updated: Jan 19, 2023, 10:06 AM IST

MP कांग्रेस की अहम बैठक आज, प्रकोष्ठों के कामकाज की होगी समीक्षा, संगठनात्मक सर्जरी भी संभव

भोपाल। नए साल की शुरुआत के साथ ही मध्य प्रदेश कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव की तैयारियां तेज कर दी है। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने गुरुवार को सभी फ्रंटल संगठनों की बैठक बुलाई है। पीसीसी मुख्यालय में पूर्व सीएम कमलनाथ महिला कांग्रेस, यूथ कांग्रेस, छात्र संगठन एनएसयूआई, बाल कांग्रेस, किसान कांग्रेस सहित सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्षों से विस्तृत चर्चा करेंगे।

जानकारी के मुताबिक कमलनाथ कांग्रेस के सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्षों से संगठनों और प्रकोष्ठों के कामकाज की समीक्षा करेंगे। इस दौरान जिलों में पदाधिकारियों के कामकाज की समीक्षा भी होगी। साथ ही निष्क्रिय पदाधिकारियों की संगठन से छुट्‌टी होने के भी आसार हैं। बैठक में बुलाए गए सभी प्रकोष्ठों के अध्यक्षों, महामंत्रियों को अपने जिलों की लिस्ट लेकर आने के निर्देश दिए गए हैं। 

यह भी पढ़ें: आप छाती ठोककर कह सकते हैं कि हमारी सरकार बन रही है, प्रभारियों की बैठक में बोले कमलनाथ

बताया जा रहा है कि कमलनाथ इस बैठक में संगठन द्वारा दिए गए कार्यक्रमों की परफॉरमेंस रिपोर्ट की भी समीक्षा करेंगे। नई प्रदेश कांग्रेस कमेटी की टीम के गठन पर भी आज की बैठक में चर्चा होगी। साथ ही कमलनाथ चुनाव लड़ने के इच्छुक नेताओं को पार्टी के अहम पदों को छोड़ने के लिए भी कह सकते हैं। यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया ने इस बैठक से पहले ही एक जिलाध्यक्ष 3 प्रदेश सचिवों सहित कुल 23 निष्क्रिय पदाधिकारियों को बर्खास्त कर दिया है।

बता दें कि इससे पहले कमलनाथ ने जिला प्रभारी और सह प्रभारियों की बैठक बुलाई थी। इस दौरान कमलनाथ ने कहा था कि, 'हम लोग चुनावी वर्ष में प्रवेश कर गए हैं। मुझे जिस तरह का फीडबैक पूरे प्रदेश से मिल रहा है, उसे देखते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता छाती ठोक कर कह सकते हैं कि कांग्रेस की सरकार आ रही है।' उन्होंने प्रभारियों से कहा था कि आप सब की जिम्मेदारी है कि आप संगठन के हर पदाधिकारी और कार्यकर्ता को समुचित जिम्मेदारी दें और उनकी क्षमता का अधिक से अधिक उपयोग करें।