किसानों के खिलाफ षड्यंत्र रच रही है मोदी और शिवराज सरकार, कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने बोला हमला

जीतू पटवारी ने उठाया मूंग, दाल और सोयाबीन के किसानों का मुद्दा, कहा, किसानों को बर्बाद करने के पीछे की मंशा यही है कि सरकार काले कृषि कानूनों पर काम कर सके

Updated: Aug 18, 2021, 05:43 PM IST

किसानों के खिलाफ षड्यंत्र रच रही है मोदी और शिवराज सरकार, कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने बोला हमला

भोपाल। कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने बुधवार को किसानों के मसले पर एक साथ मोदी सरकार और शिवराज सरकार पर हमला बोल दिया। जीतू पटवारी ने कहा कि राज्य और केंद्र सरकार अपनी नीतियों से किसानों को बर्बाद करने पर तुली हुई हैं। जीतू पटवारी ने केंद्र सरकार द्वारा सोयामील और दाल के आयात को लेकर दी गई मंज़ूरी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि यह फैसला किसानों की हत्या करने के बराबर है।  

जीतू पटवारी ने सीएम शिवराज सिंह चौहान पर सवाल उठाते हुए कहा कि शिवराज खुद को किसानों का बेटा बतलाकर किसानों की हत्या करने से कम कुछ नहीं कर रहे हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि दोनों ही सरकारें मिलीभगत कर किसानों को बर्बाद करने की साजिश रच रही हैं, ताकि वे तीनों काले कृषि कानूनों पर काम कर सकें।  

जीतू पटवारी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि आज़ादी के बाद से ही जब जब केंद्र या राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी है, इनकी सरकार किसानों के लिए घातक ही सिद्ध हुई है। उन्होंने आगे कहा कि इस समय मध्य प्रदेश में भी हालात कुछ ऐसे ही हैं। जीतू पटवारी ने हाल ही में सीएम शिवराज और प्रधानमंत्री मोदी के बीच हुई मुलाकात का ज़िक्र करते हुए कहा कि उस दौरान सबने देखा था कि एक डरा हुआ मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री से मिल रहा है।  

यह भी पढ़ें ः नौकरी मांगने पहुंचे थे युवा, सरकार ने बरसाई लाठियां, भोपाल में बेरोजगार युवाओं की बेरहमी से पिटाई

कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि शिवराज जी जब प्रधानमंत्री से मुलाकात कर बाहर आए तब उन्होंने कहा था कि उन्होंने मूंग की खरीदी बढ़ाने के लिए पीएम से आग्रह किया है। लेकिन खुद शिवराज सरकार मूंग के किसानों के साथ अन्याय कर रही है। जीतू पटवारी ने राज्य सरकार पर आरोप लगाया कि मूंग के किसानों के आंदलोन करने बावजूद शिवराज सरकार चीटी की चाल से मूंग की खरीदी कर रही है। कांग्रेस नेता ने कहा कि राज्य सरकार मूंग के किसानों को यात्नाएं देने के अलावा और कुछ नहीं कर रही है।  

इसके साथ साथ कांग्रेस नेता ने मोदी सरकार को भी आड़े हाथों लिया। जीतू पटवारी ने कहा कि पिछले तीन सालों से मोदी सरकार ने दाल के एक्सपोर्ट पर रोक लगा कर रखी हुई थी। लेकिन इस वर्ष दाल का उत्पादन होने से पहले मोदी सरकार ने दाल के निर्यात पर छूट दे दी। जीतू पटवारी ने विदेशों से आयात होने वाली 15 लाख मीट्रिक टन सोयाबीन के आयात को मिली मंज़ूरी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि जो पाखंड मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार किसानों के साथ कर रही है, वही हथकंडा मोदी सरकार देश के किसानों के खिलाफ अपना रही है।  

जीतू पटवारी ने कहा कि पिछले साल सोयाबीन के किसानों को हुए घाटे की भरपाई आज तक नहीं हो पाई है। कांग्रेस नेता ने सीएम को उनके वादे की याद दिलाते हुए कहा कि खुद सीएम ने यह कहा था कि एक एक किसान के नुकसान की भरपाई की जाएगी, लेकिन सीएम के वादे का क्या हुआ यह सबके सामने है। जीतू पटवारी ने कहा कि किसानों को तत्काल ही बीमा और मुआवज़ा राशि मुहैया कराने की मांग की है। जीतू पटवारी ने बीजली के बिलों की मार झेल रहे किसानों को राहत पहुंचाने की भी मांग की। पटवारी ने बारिश की कमी से जूझ रहे किसानों को सर्वे करा कर राहत प्रदान करने की मांग की। पटवारी ने कहा कि किसानों का विरोध ही बीजेपी का मूल विचार है।