भोपाल में 8 जनवरी को करणी सेना की महारैली, 21 सूत्रीय मांगों को लेकर जंबूरी मैदान में जुटेंगे लाखों लोग

करणी सेना की रैली से पहले लोहे की चद्दरों से कवर किया जा रहा जंबूरी मैदान, करणी सैनिक बोले- लोहे की दीवार भी हमें नहीं रोकेगी। हर हाल में आंदोलन होगा।

Updated: Jan 04, 2023, 07:36 PM IST

भोपाल में 8 जनवरी को करणी सेना की महारैली, 21 सूत्रीय मांगों को लेकर जंबूरी मैदान में जुटेंगे लाखों लोग

भोपाल। आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग, जातिगत आरक्षण की पुनः समीक्षा व एट्रोसिटी एक्ट के विरोध सहित 21 सूत्रीय मांगों को लेकर 8 जनवरी को भोपाल में राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की महारैली होने वाली है। इस रैली में शामिल होने के लिए प्रदेश भर से हजारों करणी सैनिक भोपाल आएंगे। बताया जा रहा है कि प्रशासन ने इस आंदोलन की अनुमति नहीं दी है। वहीं करणी सैनिकों ने कहा है कि हर हाल में यह आंदोलन होकर रहेगा।

दरअसल, आंदोलन को देखते हुए जंबूरी मैदान को लोहे की चद्दरों से कवर किया जा रहा है। इस पर करणी सेना के जीवन सिंह शेरपुर ने आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि लोहे की दीवार भी हमें नहीं रोक सकेगी। हर हाल में 8 जनवरी को वहां आंदोलन होगा। शेरपुर ने बताया कि 7 जनवरी से ही भूख हड़ताल करेंगे। इसके लिए 5-5 लोगों की टीम बनाई है। इसके पहले पांच जनवरी को राजपूत पंचायत बुलाया गया है। 

जीवन सिंह शेरपुर ने कहा कि हम पिछले छह महीने से इस आंदोलन की तैयारी कर रहे हैं। यदि हमारी बातें नहीं मानी गईं, हमें प्रताड़ित किया गया, हमारे लोगों को आंदोलन में आने से रोका गया तो करणी सेना चुनाव में उतरने से नहीं डरेगी। जितने भी नेता हमारे आंदोलन में बाधा डालने की कोशिश करेंगे, हम उन्हें विधानसभा चुनाव जीतने नहीं देंगे।

यह भी पढ़ें: CM शिवराज के गृह जिले में मूलभूत सुविधाओं से वंचित हैं लोग, कलेक्टर बोले- ठेकदार ने सत्यानाश कर दिया

करणी सेना परिवार के अजीत सिंह डोडिया ने कहा कि 8 जनवरी को 'माई के लाल' मैदान में आएंगे। उन्होंने दावा किया कि प्रदेशभर से 10 लाख से ज्यादा राजपूत आंदोलन का हिस्सा बनेंगे। उन्होंने कहा, 'हम किसी भी राजनीतिक दल के नहीं हैं, न ही हम किसी राजनीति से प्रेरित होकर ये आंदोलन कर रहे हैं। हम समाज का हिस्सा हैं और समाज के लिए इस आंदोलन को कर रहे हैं। सरकार चाहे कितनी भी कोशिशें कर ले, हम आंदोलन जरूर करेंगे।'

करणी सेना की 21 सूत्री मांगें

करणी सेना ने 21 सूत्री मांगों को लेकर इस आंदोलन का ऐलान किया है। इसमें गौमाता को राष्ट्र माता बनाने की मांग, पद्मावत फिल्म के दौरान दर्ज मुकदमों को वापस लेने, ओल्ड पेंशन स्कीम, किसानों के हित में स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, बेरोजगार युवाओं को भत्ता देने, आर्थिक आधार पर आरक्षण देने, एससी-एसटी एट्रोसिटी केस में बिना जांच के गिरफ्तारी पर रोक लगाने सहित कई मांगें शामिल है। 

भोपाल के आंदोलन में शामिल होने के लिए उज्जैन के रेवाड़ी गांव की 12 साल की एक किशोरी सुहाना सिंह राजपूत ने 31 दिसंबर से पैदल यात्रा शुरू की है। बताया जा रहा है कि 8 जनवरी को वह भोपाल पहुंच जाएगी। सुहाना ने बताया कि 21 सूत्रीय मांगों को लेकर भोपाल में होने वाले 8 जनवरी के जन आंदोलन को सफल बनाने के लिए पैदल यात्रा का निर्णय लिया। पैदल यात्रा के दौरान वह समाज के लोगों से भोपाल आने की अपील कर रही हैं। वह 200 किलोमीटर की यात्रा 9 दिन में पूरा कर भोपाल पहुंचेगी।