कोलार सिक्सलेन प्रोजेक्ट का विरोध, कड़ाके की ठंड में तोड़े गए गरीबों के मकान, पीसी शर्मा ने खोला मोर्चा

कोलार गेस्ट हाउस तिराहे की मकान और दुकानों को तोड़ने का कांग्रेस ने विरोध जताया है, विधायक पीसी शर्मा ने कहा- जबरन मकान तोड़ दिए। एक बुजुर्ग की दहशत में जान चली गई।

Updated: Jan 12, 2023, 11:28 PM IST

कोलार सिक्सलेन प्रोजेक्ट का विरोध, कड़ाके की ठंड में तोड़े गए गरीबों के मकान, पीसी शर्मा ने खोला मोर्चा

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोलार सिक्सलेन प्रोजेक्ट का विरोध तेज हो गया है। कोलार गेस्ट हाउस तिराहे की मकान और दुकानों को तोड़ने का कांग्रेस ने विरोध जताया है। कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने कहा कि जनता को विस्थापित करने से पहले उनकी मकान-दुकानें तोड़ दी गईं। इस कारण कड़ाके की ठंड में रहवासियों के सामने मुश्किलें खड़ी हो गई है।

कांग्रेस के सीनियर विधायक पीसी शर्मा गुरुवार को पार्षद प्रवीण सक्सेना और योगेंद्र सिंह चौहान के साथ मौके पर पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट के विरुद्ध कांग्रेस अब सड़कों पर उतरकर विरोध करेगी। शर्मा ने बताया कि करीब 50 साल से रह रहे लोगों के पास वर्ष 1984 के पट्‌टे हैं और हर सरकार ने पट्‌टा रिन्यू किया। चूंकि, सिक्सलेन बन रहा है। इसलिए लोगों ने स्वैच्छा से मकान-दुकानें हटाने को तैयार हो गए। 

यह भी पढ़ें: MP में पोचर्स बेखौफ, सिवनी में टाइगर हंट का मामला, करंट लगाकर किया शिकार

कांग्रेस विधायक के मुताबिक उन्हें विस्थापित करने के लिए जिला प्रशासन और पीडब्ल्यूडी ने दो जगह बताई थी और सीमांकन भी कर दिया था, लेकिन बाद में अफसर पलट गए। एक महीने से मुआवजे और विस्थापन को लेकर लोगों को गुमराह किया जा रहा है। अब तक कोई निर्णय लिया जा सका है। लोग कड़ाके की ठंड में बाहर रह रहे हैं। सरकार और कुछ लोगों के प्रेशर में जबरन मकान तोड़ दिए। एक बुजुर्ग की दहशत में जान चली गई। यह अन्याय है। अब तक हम नहीं बोले थे, लेकिन अब सड़क पर उतरेंगे। 

विधायक शर्मा ने मांग करते हुए कहा कि उत्तराखंड के जोशी मठ की तरह भोपाल के गरीबों के साथ सरकार अन्याय न करें। इनके आवास एवं रोजगार की व्यवस्था तुरंत करना चाहिए। वहीं, रहवासियों को प्लाट के साथ दो-दो लाख रुपए और दुकानदारों को जगह के साथ 50-50 हजार रुपए का मुआवजा दें।