रिश्वतखोर पर लोकायुक्त का शिकंजा, भोपाल में रिश्वत लेते सब इंस्पेक्टर पकड़ाया

मिसरोद थाने का सब इंस्पेक्टर साढ़े 8 हजार की घूस लेते रंगे हाथ पकड़ाया, मारपीट के आरोपी को जमानत पर छोड़ने के लिए मांगे थे 10 हजार रुपए, फरियादी के परिवार ने लोकायुक्त में की शिकायत

Updated: Aug 24, 2021, 04:31 PM IST

रिश्वतखोर पर लोकायुक्त का शिकंजा, भोपाल में रिश्वत लेते सब इंस्पेक्टर पकड़ाया
Photo Courtesy: social media

भोपाल। मध्यप्रदेश में लोकायुक्त पुलिस एक्शन के मोड में है। एक के बाद एक भ्रष्ट कर्मचारियों पर नकेल कसी जा रही है। पहले नगर निगम, PWD, राजस्व विभाग, NRHM  और स्वास्थ्य विभाग के करीब दर्जनभर अधिकारी कर्मचारियों के बाद अब पुलिस विभाग के रिश्वतखोरों पर शिकंजा कसा है। लोकायुक्त पुलिस ने भोपाल के मिसरोद थाना पुलिस के सब इंस्पेक्टर को साढ़े 8 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा है। भोपाल लोकायुक्त ने आरोपी को 8 हजार 500 रुपए के नोटों के साथ गौहर महल के पास से गिरफ्तार किया है।

 सब-इंस्पेक्टर प्रकाश राजपूत पर आरोप है कि उसने थाने से जमानत देने के नाम पर एक युवक से 10 हजार रुपए की डिमांड की थी। जिसकी शिकायत फरियादी ने लोकायुक्त में कर दी। इस केस के बारे में लोकायुक्त पुलिस का कहना है कि सोमवार को रेतघाट तलैया निवासी मसूद अली इस मामले की शिकायत की थी। मसूद ने शिकायत में बताया था कि होशंगाबाद रोड स्थित एक मॉल के पास उनके भतीजे का कुछ लोगों से झगड़ा हो गया था। 9 अगस्त को इस मामले की शिकायत मिसरोद थाना पुलिस ने दर्ज की थी।

और पढ़ें: अलीराजपुर में 7 हजार रु की रिश्वत लेते पटवारी गिरफ्तार, इंदौर लोकायुक्त ने रंगे हाथ पकड़ा

वहीं इस मामले में दूसरे गुट के लोगों ने काउंटर केस किया था। तब फरियादी मसूद ने अपने भतीजे को जमानत पर छोड़ने की मिन्नत की। सब-इंस्पेक्टर ने उसे जमानत देने के बदले 10 हजार रुपए मांगे। जिसके बाद फरियादी मसूद ने इसकी शिकायत लोकायुक्त में कर दी।

और पढ़ें: गरीब हम्माल से 2 हजार की रिश्वत लेते सहायक निरीक्षक गिरफ्तार, हम्माल का ठेला छोड़ने की एवज में मांगे थे 10 हजार

मामले की जांच में सही पाए जाने पर लोकायुक्त पुलिस ने पूरी प्लानिंग की और मंगलवार सुबह आरोपी सब इंस्पेक्टर को रंगे हाथ गिरफ्तार किया।

और पढ़ें: मंडला जेल का कम्पाउंडर 7 हजार रुपए की घूस लेते गिरफ्तार, लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथों पकड़ा

लोकायुक्त के कहने पर फरियादी मसूद ने प्रकाश राजपूत को वीआईपी रोड स्थित गौहर महल के पास रकम लेने के लिए बुलाया था। जैसे ही SI ने नोट हाथ में लिए लोकायुक्त ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया।

और पढ़ें: 3 लाख रुपए की घूस लेते इंजीनियर गिरफ्तार, जबलपुर लोकायुक्त ने भोपाल में की कार्रवाई

 लोकायुक्त ने आरोपी इंस्पेक्टर के खिलाफ धारा 7 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया है। आरोपी से पूछताझ की जा रही है। पकड़े जाने पर आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर ने सफाई दी है कि उसे फंसाया जा रहा है। वह खुद को निर्दोष बता रहा है।