ओबीसी आंदोलन में बलप्रयोग से भड़की कांग्रेस, कमलनाथ बोले- OBC वर्ग डरने वाला नहीं, हम साथ खड़े हैं

भोपाल में ओबीसी आंदोलन से पहले दर्जनों लोगों को किया गया गिरफ्तार, कांग्रेस बोली- ये तानाशाही नहीं चलेगी, अरुण यादव ने सीएम शिवराज पर लगाया पिछड़ा वर्ग के लोगों को गिरफ्तार करवाने का आरोप

Updated: Jan 02, 2022, 02:07 PM IST

ओबीसी आंदोलन में बलप्रयोग से भड़की कांग्रेस, कमलनाथ बोले- OBC वर्ग डरने वाला नहीं, हम साथ खड़े हैं

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में ओबीसी समुदाय के लोगों पर बलप्रयोग को लेकर कांग्रेस ने आक्रोश व्यक्त किया है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सीएम शिवराज पर ओबीसी वर्ग का दमन करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने कहा है कि भाजपा भीड़ जुटा सकती है, लेकिन ओबीसी अपने हक़ की लड़ाई नहीं लड़ सकते? ये तानाशाही नहीं चलेगी।'

मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने ट्वीट थ्रेड के जरिए ओबीसी समुदाय के लोगों के साथ मारपीट का आरोप लगाया है। कमलनाथ ने ट्वीट किया, 'ओबीसी महासभा द्वारा पंचायत चुनावों में ओबीसी आरक्षण प्रदान करने की माँग को लेकर आज भोपाल में प्रदर्शन की पूर्व से ही घोषणा की गयी थी। लेकिन पता नही शिवराज सरकार को ओबीसी वर्ग से परहेज़ क्यों, सरकार उनके दमन पर क्यों उतारू हो गयी है।'

कमलनाथ ने आगे लिखा कि, ' भाजपा और उससे जुड़े संगठन को तमाम आयोजनो की छूट लेकिन ओबीसी वर्ग के आयोजन पर रोक..? पहले ओबीसी महासभा के पदाधिकारियों व इस वर्ग के लोगों को नाकेबंदी कर भोपाल आने से रोका गया और अब उन्हें हिरासत में लिया जा रहा है, उनका दमन किया जा रहा है।'

पूर्व सीएम ने कहा है कि कांग्रेस ओबीसी वर्ग के साथ खड़ी है। उन्होंने आगे लिखा कि, 'आंदोलन को कुचलने का काम किया जा रहा है, उनके साथ मारपीट की जा रही है और यह सब ख़ुद को इस वर्ग की हितैषी बताने वाली सरकार में हो रहा है? ओबीसी वर्ग, दलित वर्ग, आदिवासी वर्ग का कितना भी दमन कर लो, यह वर्ग अपने हक़ की माँग को लेकर संघर्ष करता रहेगा, यह डरने-दबने वाला नही है, कांग्रेस इन वर्गों के साथ खड़ी है और इनके हित, उत्थान व कल्याण के लिये हम सदैव संकल्पित है।'

यह भी पढ़ें: भोपाल पुलिस ने भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर को किया गिरफ्तार, OBC आंदोलन में होना था शामिल

मध्य प्रदेश में ओबीसी समुदाय के वरिष्ठ नेता अरुण यादव ने बीजेपी को ओबीसी विरोधी बताया है। अरुण यादव ने कहा है कि, 'अपनी मांगों को लेकर शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने भोपाल आए पिछड़ा वर्ग के साथियों को तो पहले फोन पर डराया, धमकाया उसके बाद नाकेबंदी कर दी जिससे कोई भोपाल में न आ पाए, उसके बाद शिवराज जी के इशारे पर पुलिस ने पिछड़ा वर्ग के लोगों को गिरफ्तार कर लिया।'

दरअसल, मध्य प्रदेश पंचायत चुनाव में ओबीसी आरक्षण खत्म होने और फिर चुनाव रद्द होने को लेकर ओबीसी वर्ग के लोगों में नाराजगी है। आरक्षण की मांग को लेकर ओबीसी महासभा ने रविवार को सीएम हाउस घेरने का ऐलान किया था। इस आंदोलन में शामिल होने के लिए भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद भी भोपाल पहुंचे थे। हालांकि, चंद्रशेखर को पुलिस ने एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार कर किया।

सोशल एक्टिविस्ट चंद्रशेखर की गिरफ्तारी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। रविवार दोपहर से ही ट्विटर पर रिलीज चंद्रशेखर हैशटैग टॉप ट्रेंडिंग है। चंद्रशेखर के अलावा उनके साथी सुनील अस्तेय समेत कई कार्यकर्ताओं को भी पुलिस उठा ले गई है। उधर भोपाल शहर के विभिन्न स्थानों से सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।