शिवपुरी जिला अस्पताल से ऑक्सीजन पाइपलाइन की चोरी, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात

शिवपुरी जिला अस्पताल से एक चोर ने ऑक्सीजन पाइपलाइन चुरा ली, चोरी का पता तब चला जब अस्पताल के स्टाफ ने टेस्टिंग के लिए ऑक्सीजन प्लांट को चालू किया, जिला अस्पताल में आए दिन हो रही चोरी की घटनाओं ने कई तरह के सवाल खड़े कर दिए हैं

Publish: Jan 06, 2022, 10:51 AM IST

शिवपुरी जिला अस्पताल से ऑक्सीजन पाइपलाइन की चोरी, सीसीटीवी में कैद हुई वारदात
Photo Courtesy: liveHindustan.com

शिवपुरी। मध्य प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बीच शिवपुरी जिला अस्पताल चोरी की घटनाओं से ही उबर नहीं पा रहा है। ऐसे वक्त में जब कोरोना की तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है, शिवपुरी जिला अस्पताल से दिन दहाड़े ऑक्सीजन की पाइपलाइन चोरी कर ली गई। ऑक्सीजन पाइपलाइन की चोरी का पता भी तब चला जब अस्पताल के स्टाफ ने ऑक्सीजन प्लांट को चालू किया। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोमवार दोपहर को प्ले ग्राउंड के रास्ते से एक युवक जिला अस्पताल की छत पर चढ़ा था। छत पर चढ़ने के बाद उसने ऑक्सीजन पाइपलाइन निकाल ली और उसे थैली में भरकर फरार हो गया। लेकिन अस्पताल प्रबंधन के पास यह बात तब पहुंची जब अस्पताल के स्टाफ ने ऑक्सीजन सप्लाई को टेस्ट करने के लिए ऑक्सीजन प्लांट को चालू किया। 

स्टाफ द्वारा ऑक्सीजन प्लांट को चालू करने के बावजूद ऑक्सीजन वार्ड में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाई। इसके बदले ऑक्सीजन हवा में फैल गई। आशंका होने पर जब स्टाफ ने अस्पताल की छत पर देखा तो ऑक्सीजन की पाइपलाइन ही नदारद थी। अस्पताल के सीसीटीवी फुटेज खंगाले जाने के बाद चोरी की पुष्टि हुई। सीसीटीवी फुटेज से यह जाहिर हो गया कि एक युवक ने अस्पताल की छत पर चढ़कर पाइपलाइन की चोरी की है। 

यह भी पढ़ें : MP में एक दिन में मिले 1033 कोरोना मामले, इंदौर में सबसे अधिक 512 मामले दर्ज

अस्पताल में पाइपलाइन चोरी होने की शिकायत पुलिस में तो दर्ज करा दी गई। लेकिन जिला अस्पताल में चोरी की यह पहली या इकलौती घटना नहीं थी। इससे पहले भी जिला अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर के अंदर ऑक्सीजन पाइपलाइन की चोरी हो चुकी है। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक जिला अस्पताल में चोरी होने के बाद पुलिस में तो शिकायत तो दर्ज करा दी जाती है। लेकिन प्रशासन के उदासीन रवैए के कारण तमाम वारदात ठंडे बस्ते में चले जाते हैं। वहीं लगातार घटित होती चोरी की घटनाओं ने अस्पताल प्रबंधन द्वारा बरती जा रही लापरवाही को लेकर भी सवाल खड़े कर दिए हैं।