इंदौर जिला अस्पताल में शव को चूहों ने कुतरा, परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा

चूहों ने शव का चेहरा और हाथ कुतरा, जहर खाने से निजी अस्पताल में हुई थी शख्स की मौत, शुक्रवार शाम जिला अस्पताल लाया गया था शव, शनिवार को पोस्टमार्टम के दौरान हुआ खुलासा, जिम्मेदार करते रहे आरोप प्रत्यारोप,

Updated: Jun 19, 2021, 04:48 PM IST

इंदौर जिला अस्पताल में शव को चूहों ने कुतरा, परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा
Photo Courtesy: Zee news

इंदौर। जिला अस्पताल में एक शव को चूहों ने कुतर दिया। मामले का खुलासा उस समय हुआ। जब डाक्टरों ने मृतक के शरीर से पोस्टमार्टम के लिए चादर हटाई। चूहों ने शव का चेहरा औऱ हाथ कुतरा था, जिसकी वजह वहां से खून बह रहा था। इसे देखकर वहां मौजूद डाक्टर और अन्य लोगों के होश उड़ गए। परिजनों को मामले की खबर लगते ही उन्होंने जिला अस्पताल में हंगामा कर दिया।

परिजनों में अस्पताल प्रबंध पर लापरवाही का आरोप लगाया है। दरअसल शुक्रवार शाम को एक निजी अस्पताल से शव को जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए लाया गया था, शाम को पोस्टमार्टम नहीं होने की वजह से शव को कमरे में रख दिया गया था। मर्चुरी में जगह नहीं होने की वजह से शव को ढांककर कमरे में रखवा दिया गया था। जहां सुरक्षा के नाम पर ताला लगा था।

दरअस मृतक धार जिले के सेजवाय गांव का रहने वाला था, उसका नाम कृष्णकांत पांचाल था। 41 वर्षीय कृष्णकांत ने शुक्रवार को जहर खा लिया था। जिसे गंभीर हालत में दोपहर में निजी अस्पताल आनंद में भर्ती किया गया था। जहां करीब 3 घंटे इलाज के बाद उसकी मौत हो गई। आत्महत्या का मामला होने की वजह से पुलिस ने पंचनामा बनाया और दो घंटे बाद करीब शाम 5.30 बजे जिला अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के लिए शव लेकर पहुंचे। लेकिन वहां रात में पोस्टमार्टम की व्यवस्था नहीं होने की वजह से शव को मर्चुरी की जगह पोस्टमार्टम रूम में ही रखवा दिया गया। 

परिजन की मानें तो उन्होंने अस्पताल प्रबंधन से शव को फ्रीजर में रखने का अनुरोध किया था, लेकिन उनसे कहा गया कि वहां फ्रीजर नहीं है। अस्पताल के कर्मचारी ने कहा था कि इस अस्पताल में शवों को ऐसे ही रातभर पंखे की हवा में रखा जाता है। कहीं से कोई मदद नहीं मिली तो मृतक के परिजन वापस चले गए। जब वे शनिवार को अस्पताल लौटे तो सुबह करीब 10.30 बजे पोस्टमार्टम के लिए डाक्टर पहुंचे। जैसे ही उन्होंने मृतक के शव से चादर उठाई उसके चेहरे और हाथों को चूहों ने बुरी तरह कुतर दिया था। जिसकी वजह से उसका चेहरा विभत्स और डरावना लगने लगा था। शव के शरीर के कई भागों में छोटे-छोटे घाव नजर आ रहे थे। मृतक के परिजनों ने इस मामले में अस्पताल प्रबंधन पर कानूनी कार्रवाई करने की धमकी दी है।परिजन दोषियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

शव को चूहों द्वारा कुतरे जाने की पुष्टि ASI अमरसिंह भिड़े ने भी की है, जबकि अस्पताल के डॉक्टर और कर्मचारी एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप करते रहे। अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर (पोस्टमार्टम विभाग) डॉक्टर भरत वाजपेयी ने कहा कि अस्पताल के इंफ्रास्ट्रचर की जिम्मेदारी अस्पताल के CMHO,CMO की होती है, वे केवल पोस्टमार्टम करने का कार्य करते हैं।    

इससे पहले भी इंदौर के अस्पतालों में शवों को चूहों द्वारा कुतरे जाने का मामला सामने आता रहा है। लेकिन जिम्मेदार हर बार बच जाते हैं, किसी पर कोई कार्रवाई नहीं होती।