मंत्री पद और बंगला चाहते थे सिंधिया, इसीलिए छोड़ी कांग्रेस: उज्जैन में बोले जयराम रमेश

मध्य प्रदेश सरकार की बाधा के बावजूद हमारी यात्रा बहुत सक्सेस हो रही है। कहीं पोस्टर हटवाए तो कहीं एफआईआर की गई: जयराम रमेश

Updated: Dec 01, 2022, 05:47 PM IST

मंत्री पद और बंगला चाहते थे सिंधिया, इसीलिए छोड़ी कांग्रेस: उज्जैन में बोले जयराम रमेश

उज्जैन। कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा इन दिनों मध्य प्रदेश में है। राज्य में आज यात्रा का नौवां दिन है। दिन ब दिन यात्रा को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं में जोश और उत्साह बढ़ता ही जा रहा है। प्रदेश में यात्रा के दौरान सिंधिया की बगावत पर कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख जयराम रमेश ने खुलकर अपनी बातें रखी। 

जयराम रमेश ने उज्जैन में यात्रा के दोपहर पड़ाव के दौरान पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पद और बंगले की लालच में भाजपा ज्वाइन किया। जयराम रमेश ने एक सवाल के जवाब में कहा कि, 'सिंधिया ने कांग्रेस इसलिए छोड़ी क्योंकि वे केंद्रीय मंत्री का पद और सफदरजंग में बंगला लेना चाहते थे। कर्जमाफी और संविदा कर्मचारियों की नियुक्ति का आरोप सिर्फ बहाना था।'

जयराम रमेश ने इस दौरान मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, 'राज्य सरकार की बाधा के बावजूद हमारी यात्रा बहुत सफल हो रही है। यात्रा के दौरान कहीं पोस्टर हटवाए गए तो कहीं एफआईआर की गई। बावजूद लोग हमसे जुड़ रहे हैं।' जयराम रमेश ने इस दौरान बताया कि दिल्ली में यात्रा का तीन से चार दिन ब्रेक होगा।

कांग्रेस नेता ने बताया कि कंटेनर जिसमें राहुल गांधी समेत सभी भारत यात्री रह रहे हैं उन्हें सर्विसिंग की जरूरत पड़ रही है। इसलिए दिल्ली में 3 से 4 दिन का ब्रेक रहेगा। इसके बाद यात्रा पुनः शुरू होगा। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी से पहले भारत जोड़ो यात्रा कश्मीर पहुंच जाएगी। माना जा रहा है कि 26 जनवरी को लाल चौक पर राष्ट्रीय ध्वज फहराकर राहुल गांधी इस पदयात्रा का समापन करेंगे।