जबलपुर रेलवे स्टेशन की लिफ्ट में फंसे तीन अग्निवीर, घंटों मशक्कत के बाद निकाला जा सका

अग्निवीर भर्ती में शामिल होने आए तीन युवक जबलपुर रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट में फंस गए, रात करीब 9 बजे रेलवे स्टाफ को इस बात की जानकारी मिली, देर रात करीब पौने बारह बजे उन्हें निकाला जा सका

Updated: Sep 18, 2022, 12:58 PM IST

जबलपुर रेलवे स्टेशन की लिफ्ट में फंसे तीन अग्निवीर, घंटों मशक्कत के बाद निकाला जा सका
Photo Courtesy: Naidunia

जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर रेलवे स्टेशन पर शनिवार देर रात तीन युवक लिफ्ट में फंस गए। घंटों मशक्कत के बाद देर रात तीनों को सुरक्षित बाहर निकाला जा सका। तीनों युवक अग्निवीर रैली भर्ती में शामिल होने के लिए जबलपुर पहुंचे थे।

लिफ्ट में फंसे युवकों की पहचान कटनी निवासी गोविंद सिंह और सिंगरौली निवासी बृजेश कुमार शाह और दीपक कुमार शाह के रूप में हुई है। युवकों ने बताया कि वे प्लेटफार्म क्रमांक पांच से बाहर निकलने के लिए लिफ्ट के माध्यम से फुट ओवर ब्रिज पर जा रहे थे। इसी दौरान लिफ्ट अटक गई। उन्होंने काफी देर लिफ्ट का दरवाजा खुलने का इंतजार किया। लेकिन जब दरवाजा नहीं खुला तो उन्होंने दरवाजे को पीटना चालू किया, जिससे बाहर मौजूद लोगों को उनके अंदर फंसे होने की जानकारी मिल सके।

रेलवे स्टाफ के लोगों ने बताया कि युवकों के लिफ्ट में फंसे होने की जानकारी रात करीब नौ बजे लगी। इसके बाद से इनको बाहर निकाले जाने का प्रयास शुरु हुआ। रात करीब पौने बारह बजे लिफ्ट का दरवाजा टेम्पर करके सभी को सुरक्षित बाहर निकाला गया। बता दें कि जबलपुर रेलवे प्रशासन ने स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक एक, पांच व छह पर यात्रियों की सुविधा के लिए लिफ्ट लगवाई है। 

स्थानीय लोगों के मुताबिक लिफ्ट लगने के कुछ समय तक तो ये ठीक-ठाक चलीं, लेकिन समय बीतने के साथ ही रखरखाव के अभाव में ये खराब हो गए। इस घटना ने व्यवस्थाओं की सारी पोल खोल दी। गनीमत रही कि लिफ्ट में फंसने वालों में कोई बुजुर्ग अथवा हृदय रोगी नहीं रहा। वरना ऐसी स्थिति में अनहोनी का भी डर बना रहता है।